ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
44 बाबूलाल वैष्णव की जलाकर हत्या के मामले में आज छतरपुर जिले के संत समाज और हिन्दू संघठनों ने बैठक कर गहरा आक्रोश जताया
October 12, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

संतो की हो रही हत्याओं और अत्याचार के खिलाफ छतरपुर के संत समाज ने गहरा आक्रोश जताते हुए सुरक्षा की मांग हेतु कलेक्टर को सौपा ज्ञापन

छतरपुर राजस्थान के करौली जिले के सपोटरा इलाके के बूकना गांव में दबंगों के द्वारा पुजारी बाबूलाल वैष्णव की जलाकर हत्या के मामले में आज छतरपुर जिले के संत समाज और हिन्दू संघठनों ने बैठक कर गहरा आक्रोश जताया साथ ही कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह को संतो की सुरक्षा एवं मंदिर की संपत्ति रक्षा हेतु ज्ञापन दिया । संत समिति के प्रदेश अध्यक्ष महंत श्रृंगारी जी |Jવાદ . जान भगवानदास ने जानकारी देते हुए बताया कि जिस तरह से संत महात्माओं पर हमले हो रहे है ऐसे में हमारे कोई भी साधु संत सुरक्षित नहीं है और इसके पीछे की बजाय है मंदिर की संपत्ति जिस पर लोग गलत नियत रखने है और कब्जा करना चाहते हैं इसीलिए इस तरह की घटनाएं घटित हो रही है । चुकी मंदिर की संपत्ति की रक्षा करना प्रशासन का काम है और देखरेख करना संत महात्माओं का काम है इसीलिए बैठक के माध्यम से यह निर्णय लिया गया कि मंदिर की संपत्ति की रक्षा प्रशासन को करनी होती है जिसमें प्रशासन इस ओर ध्यान दें और साधुओं पर हो रहे हमलों के कारण साधु संतों की सुरक्षा बढ़ाई जाए । बैठक का आयोजन शहर के धनुषधारी संकट मोचन मंदिर में रविवार की शाम किया गया जिसमें मुख्य रूप से हिन्दू उत्सव समिति के अध्यक्ष पवन मिश्राए संत समिति के संभागीय अध्यक्ष जिला अध्यक्ष परमानंद महराजए साठीया मंदिर के महंतए समाजसेवी राजेन्द्र अग्रवालए शिवसेना प्रमुख मुन्ना तिवारीए रामसेवा समिति के राकेश तिवारीए हिमांशु अग्रवालए सनातन समिति के सौरभ तिवारीए नामदेव समाज अध्यक्षए ब्राम्हण समाज के अध्यक्ष दिलीप दुबेए संकट मोचन मंदिर के महंत श्री सुरेंद्रदास जी एवं अंकित विश्वकर्माए नरेश खटीकए अरविंद अग्रवाल के अलावा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे बैठक के उपरांत सभी ने मृत संत की आत्मा शांति के साथ घटना पर गहरा आक्रोश व्यक्त किया और हिन्दू संघठनों ने मिलकर तहसीलदार और शहर कोतवाल को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा