ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
आत्म निर्भर मध्यप्रदेश बनाने में स्व सहायता समूह की महिलाओं की होगी प्रमुख भूमिका - मुख्यमंत्री
June 13, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

 

उमरिया - देश के प्रधानमंत्री नरंद्र मोदी ने आत्म निर्भर भारत बनाने की घोषणा की है। इसी तर्ज पर आत्म निर्भर मध्यप्रदेश की परिकल्पना को साकार किया जाएगा। इस कार्य में स्व सहायता समूह के लाखों महिलाओ की प्रमुख भूमिका होगी। स्थानीय स्तर पर उपलब्ध संसाधनों तथा जरूरत की चीजो का आकलन कर कार्य योजना तैयार की जाएगी तथा स्व सहायता समूह की महिलाओ को प्रशिक्षणए बैंक लिंकेज एवं बाजार उपलब्ध कराकर छोटे छोटे उद्योगों के माध्यम से जहां रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं आत्म निर्भर मप्र की परिकल्पना को साकार किया जाएगा। इस आशय के विचार प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो वीडियो कान्फ्रेसिंग में उमरिया जिले के मध्यप्रदेश डे ग्रामीण आजीविका परियोजना द्वारा निर्मित स्व सहायता समूह की महिलाओं ने भाग लिया। सहायता समूह की महिलाओं ने भाग लिया। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संकट महामारी के दौरान स्व सहायता समूह की महिलाओ ने मास्कए सेनेटाईजर ए पीपीई किट ए सब्जी ए दूधए मध्यान्ह भोजनए खाद्यान्न का घर घर वितरण तथा प्रवासी मजदरों की बेहतर व्यवस्था में सराहनीय सहयोग दिया हैजिसके लिए वे धन्यवाद के पात्र है। आपने कहा कि अभी तक कोरोना बीमारी का वैक्सीन तैयार नहीं हो पाया है।

इसलिए हम सबको कोरोना से बचाव के उपाय अपनाने होगें। स्वयं को कोरोना के साथ काम करने की आदत डालनी होगी। स्व सहायता समूहो की महिलाओ को कोरोना बचाव का जहां स्वयं पालन करना होगा वहीं अपने परिवार ए गांव तथा समाज को भी जागरूक करना होगा। मुख्यमंत्री श्री सिंह ने कहा कि स्व सहायता समूह की महिलाओ की आय बढाने हेतु राज्य सरकार संकल्पित है। राज्य स्तर से कार्य योजना तैया की जा रही है। आपने बताया कि समूह की महिलाओं में एक करोड़ मास्क तथा पीपीई किट का निर्माण किया है। प्रदेश सरकार ने मास्क बनाने प्रदेश के एक करोड तीन लाख बच्चों के गणवेश तैयार करनें जो चार सौ करोड़ रूपये का कार्य होगा टेक होम राशन जो 700 करोड़ रूपये का कार्य होगा एसेनेटरी ए नैपकीन ए मुर्गी पालन ए सब्जी उत्पादन ए अगरबत्ती ए अचारए पापड़ए बरी आजीविका परिवहन ए नर्सरी ए गौशाला का संचालन ए वृक्षारोपण ए खेत तालाब निर्माण आदि के 252 करोड रूपये के कार्य स्व सहायता समूहों के माध्यम से कराये जायेगे। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न जिलो की महिलाओं से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से उनके द्वारा संचालित गतिविधियों के सबंध में चर्चा की। उन्होने कहा कि स्व सहायता समूह की महिलाएं अपना हौसला बनाये रखें तथा आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में सहभागी बने प्रदेश सरकार हर संभव सहयोग देगी।