ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में प्रेम बाई किराना दुकान का सचालन सिलाई तथा मनरेगा म मेट का कार्य कर अर्जित कर रही है आय
June 13, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

 

उमरिया - कोरोना सक्रमण के दौरान जारी लाक डाउन में भी जिले की स्व सहायता समूह की महिलाओ ने आर्थिक गतिविधियों का सचालन कर आत्म निर्भरता की ओर अपने कदम बढाए है। ग्राम उजान की सरस्वती स्व सहायता समूह की अध्यक्ष प्रेम बाई भुलिया ने बताया कि डे ग्रामीण आजीविका परियोजना के माध्यम से 8 फरवरी 2018 को उनके समूह का गठन हुआ थासमूह मई 13 सदस्य हैसमूह के सदस्यों द्वारा की गई बचत से ऋण उपलब्ध कराकर समूह की महिलाओ द्वारा आर्थिक गतिविधियों का सचालन किया जा रहा है। उन्होने बताया कि समूह से तीन हजार रूपये तथा ग्राम समठन से दो हजार रूपये उधार लेकर किराना की दुकान सचालित कर रखी है।

पति जमुना प्रसाद खेती बाडी का काम करते है तथा समय मिलने पर दुकान सचालन म भी सहयोग देते है। प्रेम बाई ने बताया कि दुकान से उन्हें 6 हजार रूपये तक की मासिक आय मिल जाती है। इसके अतिरिक्त मनरेगा योजना के तहत सचालित कार्यो में मेट का कार्य भी कर रही है। साथ ही सिलाई के माध्यम से अतिरिक्त आय अर्जित कर लेती है। उन्होने बताया कि हमारे चार बच्चे है बच्चों की अच्छी पढाई तथा परवरिश हमारा सपना है। समूह के अन्य चार महिलाओ को भी खेती किसानी तथा अन्य आवश्यकताओ की पूर्ति के लिए समूह द्वारा ऋण दिए गए थे। सभी ने काम पूरा होने के बाद ऋण राशि समूह को वापस कर दी है