ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
अन्य राज्यों से लौटकर आए विभिन्न कार्यों में दक्ष प्रवासी श्रमिकों के हुनर का जिले में किया जाएगा उपयोग*
June 16, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

*बैतूल* ( *वीरेंद्र झा* जिला प्रतिनिधि *)

प्राप्त जानकारी के अनुसार लॉकडाउन के दौरान विभिन्न राज्यों से लौटे प्रवासी मजदूरों की दक्षता का जिले में बेहतर उपयोग किया जाएगा। बाहरी राज्यों में श्रमिकों अर्जित विभिन्न कार्यों में दक्षता जिले में रोजगार सृजन के कार्यों में सहयोगी बनेगी एवं उनके द्वारा सीखी गई तकनीकी, सामाजिक एवं व्यावसायिक दक्षता का भी जिले के श्रमिकों को लाभ मिलेगा। अभी तक विभिन्न राज्यों से आए जिले के 15675 श्रमिकों द्वारा रोजगार सेतु में पंजीयन कराया जा चुका है। यह श्रमिक बाहरी राज्यों में कार्यरत विभिन्न प्रतिष्ठानों में कई तरह की कुशलताओं में दक्ष हैं। कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने सोमवार को लघु, मध्यम एवं सूक्ष्म उद्योग कार्य से जुड़े अधिकारियों एवं उद्योग संघ के पदाधिकारियों की बैठक लेकर उनसे बाहर से आए दक्ष श्रमिकों की प्रतिभा का लाभ लेने का आह्वान किया। साथ ही कहा कि जिले में रोजगार सृजन के कार्यों में विभिन्न कुशलताओं में दक्ष इन श्रमिकों की योग्यता का भरपूर लाभ लिया जाए। स्थानीय श्रमिकों को भी इनके द्वारा अर्जित हुनर से प्रशिक्षित कराया जाए। बैठक में बताया गया कि रोजगार सेतु के तहत जिले में अभी तक 278 नियोक्ताओं ने पंजीकरण कराया है, जिनमें तीन वृहद उद्योग, 58 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग, 166 कॉन्ट्रेक्टर्स/ठेकेदार तथा 12 अन्य तरह के प्रतिष्ठान के नियोक्ता शामिल हैं। उन्होंने बताया कि रोजगार सेतु पोर्टल ऑनलाइन रोजगार मेला है। पोर्टल पर जहां मजदूरों के पंजीकरण के साथ-साथ नियोक्ताओं का भी पंजीकरण किया जा रहा है। नियोक्ता अपनी आवश्यकता के अनुसार मजदूरों का चयन कर सकते हैं। पोर्टल के माध्यम से ही मजदूरों को नियुक्ति पत्र मिल जाता है। बैठक में इन विषयों पर भी किया गया विचार-विमर्श ----------------------- बैठक में कलेक्टर एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियों एवं उद्योग संघ के प्रतिनिधियों द्वारा बिना किसी अतिरिक्त वित्तीय भार के लोकहित संबंधी योजनाओं के क्रियान्वयन पर भी चर्चा की गई, जिनमें वनाधिकार पट्टे जारी करना, अनुपयोगी शासकीय भूमि को अस्थाई उपयोग हेतु प्रदान करना, नामांतरण-बंटवारा अभियान चलाकर खसरे-खाते की नकल एवं ऋण पुस्तिका नि:शुल्क वितरण, 18 वर्ष पूर्ण करने वालों के ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए विशेष शिविर लगाना, कुशल प्रवासी श्रमिकों को विभाग की योजनाओं के अंतर्गत काम देना, अकुशल श्रमिकों के लिए ट्रेंच आदि बनाने के कार्य मनरेगा में प्रारंभ करना, पेंशनर्स का सर्वे करके जिन्हें पेंशन नहीं मिल रही उनकी पेंशन चालू कराना, प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवास निर्माण का कार्य शीघ्र पूर्ण कर उन्हें हितग्राहियों को आवंटन, इंडस्ट्रीयल एरिया में खाली पड़ी भूमि को स्टार्टअप्स आदि को आवंटन की प्रक्रिया को नए सिरे से शुरू करना, रोजगार सेतु पोर्टल का विस्तार करना एवं प्रदेश के सभी युवाओं को इससे जोडऩा, घर पहुंच सेवा अथवा घर बैठे सेवा देनों में से एक को कम से कम एक सेवा के लिए लागू कराना, हर बच्चे से घर में एक पेड़ लगवाना एवं कोरोना योद्धाओं की सेवाओं के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए एक दिन समुदाय के लिए रक्तदान दिवस का आयोजन करना विषय शामिल रहे।