ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
असहिष्णुता आज सबसे बड़ी कमजोरी बन के सामने आ गई है* - श्रीमती कल्पना बर्मन
June 26, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • देश / विदेश

*कोई पीएम मोदी की आलोचना करदे तो कहेंगे देश का अपमान कर रहे हैं* *कोई सरकार की आलोचना कर दे तो कहेंगे देशद्रोह कर रहे हैं* *कोई रक्षा नीति, विदेश नीति पर सवाल खड़े कर दे तो कहेंगे कि सेना का अपमान कर रहे हों* *कोई RSS की आलोचना कर दे तो कहेंगे धर्म का अपमान कर रहे हों* *कोई न्याय पर सवाल खड़ा कर दे तो कहेंगे संविधान का अपमान कर रहे हों* *और तो और अव बाबा रामदेव की आलोचरना को आयुर्वेद का ही अपमान बता दिया है* 

*ये वो लोग हैं जो पिछले 6 सालों से देश के पिछले 70 सालों के इतिहास को कोसते आए हैं सिर्फ कोसते* *अलोचना करना इन्हें खूब आता है लेकिन आलोचना सहने का सामर्थ्य इनमें बिल्कुल नहीं है इसलिए ये थोड़ी सी आलोचना से विचलित हो जाते हैं* *ये सब बाते आज की राजनीतिकता व समाजिकता के गिरते स्तर को व्यां कर रही हैं* *असहिष्णुता आज सबसे बड़ी कमजोरी बन के सामने आ गई है* *इस कमजोरी से उभरने का प्रयास अति जरूरी है नहीं तो ये बढती ही जाएगी और सब को अपनी चपेट में ले लेगी* 🇮🇳🇮🇳🇮🇳