ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
भोपान में स्कूली बच्चे बनेंगे अब स्वच्छता दूत परिवार और मोहल्ले को जागरूक करेंगे - कियावत
June 3, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • राजधानी - भोपाल

 

भोपाल /  भोपाल में स्कूली बच्चे अब स्वच्छता के दूत की भूमिका निभाएंगे। वे अपने घर- मोहल्ले और आसपास के क्षेत्रों में स्वच्छता, डेंगू और मलेरिया से बचाव के सम्बन्ध में लोगो को जागरूक करेंगे। उक्ताशय के निर्देश संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने आज नगर निगम, मलेरिया, स्कूल शिक्षा, महिला बाल विकास विभाग की संयुक्त बैठक के दौरान दिए। बारिश के पहले ये सभी विभाग समन्वित प्रयासो से डेंगू और मलेरिया के संभावित कारणों का निराकरण करेंगे और आमजनों को भी जागरूक करेंगे। बैठक में आयुक्त नगर निगम श्री विजय दत्ता भी उपस्थित थे। बैठक में संभागायुक्त श्री कियावत ने स्कूल शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि कक्षा 6 वी से 12 वी तक के बच्चों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उनकी पढ़ाई के साथ-साथ डेंगू और मलेरिया के विषय में जागरूक करने की शिक्षा दें, जिससे बच्चे अपने परिवार और आसपास बस्ती में लोगों को जागरूक करेंगे। इसके साथ ही उन्हें होमवर्क के माध्यम से अभिभावकों के साथ घर और बिल्डिंग की छत, कूलर, टायर आदि में रखे हुए पानी को निकालने या उसमें 2 - 4 चम्मच मिट्टी का तेल या खाने का तेल डालने का कार्य दे। इससे वे अपने घर और आस-पास के क्षेत्रों में स्वच्छता दूत की भूमिका निभाएंगे और सभी आमजनों को जागरूक भी करेंगे। महिला बाल विकास की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका कम से कम दो सौ परिवारों के संपर्क में रहती है। महिला बाल विकास विभाग से समन्वय कर इनके माध्यम से घर के अंदर पानी की टंकी और छत पर साफ सफाई रखने के लिए जागरूक किया जाए। आसपास के डेंगू के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्रों के पानी भराव और साफ सफाई की आवश्यकता की जानकारी नगर निगम को देंगी।

नगर निगम उक्त क्षेत्रों में प्राथमिकता से सफाई की जाना सुनिश्चित करेंगे। नगर निगम की कचरा कलेक्शन करने वाली शहर की करीब 500 गाड़ियों को डेंगू से बचाव और स्वच्छता का संदेश और जागरूकता लाने में उपयोग करे। स्वच्छता के साथ-साथ डेंगू के बारे में जागरूकता और बचाव के संदेश प्रचारित करें। कचरा कलेक्शन में लगे वाहन चालक और कचरा कलेक्शन के साथ-साथ आमजनों को डेंगू और मलेरिया के बारे में जागरूक करेंगे। उन्हें आस पास के क्षेत्रों में पानी जमा ना होने देने के लिए हिदायत देंगे। मलेरिया विभाग की टीम को शहर में विधानसभावार 19 जोन में नगर निगम के कर्मचारियों के साथ संयुक्त दल बनाकर प्रत्येक वार्ड के संवेदनशील क्षेत्रों में कार्य करे। तीन-चार जोन के टीम के कार्यों का पर्यवेक्षण अपर आयुक्त नगर निगम करे। भोपाल शहर में डेंगू और मलेरिया के प्रकोप की प्रत्येक संभावना को कम करें। शहर वासियों को स्वच्छता के साथ साथ स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने की हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। एक दूसरे के समन्वय और सहयोग से टीम भावना के साथ कार्य करे। बैठक में मलेरिया, महिला बाल विकास, स्कूल शिक्षा आदि के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।