ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से बिहार में 83, यूपी में 24 लोगों की मौत
June 25, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • देश / विदेश

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस घटना पर ट्वीट कर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट किया है, "बिहार में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत की खबर सुनकर स्तब्ध हूँ. भगवान उनके प्रियजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति दे. कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मेरी अपील है कि पीडित परिवारों की हर संभव मदद करें.

बिहार में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत हो गई है, वहीं उत्तर प्रदेश में अब तक 24 लोगों की मौत हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर अपनी संवेदना प्रकट करते हुए ट्वीट किया है, "बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों के निधन का दुखद समाचार मिला. राज्य सरकारें तत्परता के साथ राहत कार्यों में जुटी हैं. इस आपदा में जिन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, उनके परिजनों के प्रति मैं अपनी संवेदना प्रकट करताबिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों के निधन का दुखद समाचार मिला। राज्य सरकारें तत्परता के साथ राहत कार्यों में जुटी हैं। इस आपदा में जिन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, उनके परिजनों के प्रति मैं अपनी संवेदना प्रकट करता है। बिहार के करीब 23 ज़िले में बिजली गिरने से जान-माल का नुकसान हुआ है. गोपालगंज के बाद मधुबनी और नवादा में आठ-आठ लोग मारे गए हैं. इसके अलावा सिवान में छह, भागलपुर में छह, पूर्वी चंपारण, दरभंगा और बांका में पाँच-पाँच और पश्चिमी चंपारण में दो लोगों की मौत की खबर है.

मुआवजे की घोषणा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुमार के कार्यालय की तरफ़ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में वज्रपात से मरे लोगों के लिए शोक संवेदना व्यक्त की गई है. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वे ख़राब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें और वज्रपात से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन की ओर से जारी गाइडलाइन का अनुपालन करें. मुख्यमंत्री की ओर यह भी घोषणा की गई है कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की मुआवजे की राशि प्रदान की जाएगी. शुक्रवार के लिए राज्य के लगभग 10 ज़िले रेड जोन में घोषित किए गए हैं. इनमें पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा में बहुत ज़्यादा बारिश की आशंका जताई गई है.

उत्तर प्रदेश में 24 लोगों की मौत वहीं उत्तर प्रदेश से बीबीसी के सहयोगी पत्रकार समीरात्मज मिश्रा ने बताया है कि गुरुवार को उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में हुई भारी बारिश के बीच आकाशीय बिजली गिरने से कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए. कई जगहों से पशुओं के भी मरने की ख़बरें हैं. प्रयागराज के यमुनापार क्षेत्र में भी तेज़ बारिश के साथ बिजली कहर बनकर गिरी. यहां आकाशीय बिजली की चपेट में आने से छह लोगों की मौत हो गई है जबकि सात लोग बुरी तरह से झुलस गए हैं. राज्य के कई जिलों में पेड़ उखड़ने और पशुओं के मरने भी ख़बर है. कई जगहों पर बिजली आपूर्ति भी बाधित हुई है.

आगे मौसम का अनुमान मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामानी ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा है कि अगले तीन दिनों तक असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल का उप-हिमालयी क्षेत्र और सिक्किम में भारी बारिश होने वाली है. इसकी वजह से बाढ़ आने की भी संभावना है. हमने केंद्र और राज्य सरकारों को इस बारे में सूचित कर दिया है. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भी इस बाबत 22 जून को चेतावनी दी थी कि बिहार और असम के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए है और वहाँ नदियाँ ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही हैं.