ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
गेहूँ चने के पैसे नहीं मिलने और मक्के की सही कीमत के लिए बैतुल जिला किसान काँग्रेस ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा
June 16, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

सम्मानिय मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान जी सादर प्रणाम। आप किसानों से क्यों झुठ बोल रहे हो। अभी तक गेहूं चने का पैसा नहीं दिया गया है। मक्का बेदाम 1000 /-बिक रहा है। समर्थन मुल्य पर खरीदारी करने के लिए मापदंड के अनुसार अनाज खरीदारी की है। FAQसे हट के किसानों के अनाज को बेइज्जती से अपमानित करके किसान को वापस किया गया है। किसानों के बार बार सचेत करने पर भी आपके द्वारा हमाल तुलाई तौलकाटे नहीं बढायें गया था। जिसके चलते किसानो को 4-5दिन तक भुखे प्यासे खरीदी केंद्र पर रहना पडा। तब घर खेती के काम प्रभावित हुए हैं। आप का ध्यान मात्र म प्र के 24 सिटो पर है। प्रदेश पर होता तो FAQ से वंचित किसानो को भी समर्थन मुल्य पर लाभ मिलता।मप्र शासन की भारी लापरवाही से जो अनाज सड गया वह भी बच गया होता। एक एक माह से अधिक हो गया है हम किसानों को गेहूं चने का पैसा नहीं दिया गया है। हम किसानों को उधारी क्रय में फिर कर्जदार बनाने में आपकी सरकार का हाथ है। मप्र में जब 15 साल पहले BJPकी सरकार नहीं थी किसान अपना अनाज गेहूं चना अपने घर में रखते थे। जब भी वाजिब दाम मार्केट में आता था तब बेचता था। हमेंशा किसान को अच्छे दाम मिलते थे। तब किसान आत्महत्या नहीं करते थे। आपके सरकार का किसान विरोधी इस तरह के कार्यक्रम से भिखारि बन गया है। अगर आप गेहूं चने का पैसा देने के लिए तैयार नहीं हो तो हमें हमारी उपज वापस कर दो। धन्यवाद।