ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
कलेक्टर श्री पिथोड़े ने सभी व्यापारियों से अपील की है कि बगैर मास्क के किसी को भी सामान विक्रय न किया जाए।
May 28, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

भोपाल/ कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े के निर्देशन में भोपाल रोज कुछ नया करने के लिये आगे बढ़ रहा है। भोपाल की जनता ने भी इसे बेहतर तरीके से स्वीकार किया है। लॉक डाउन में 6 लाख 60 हजार से अधिक घरों में किराना और दूसरे समान की होम डिलेबरी कर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। कलेक्टर श्री पिथोड़े ने सभी व्यापारियों से अपील की है कि बगैर मास्क के किसी को भी सामान विक्रय न किया जाए। खाद्य सुरक्षा विभाग ने रिटेल स्टोर और ऑनलाइन स्टोर के माध्यम से शहर में आज भी 20 हजार से अधिक शहरवासियों के घरों में ये होम डिलीवरी की सुविधा लॉक डाउन (क!) के दौरान उपलब्ध करायी गयी है। भोपाल के 6 लाख 40 हजार से अधिक घरों में होम डिलीवरी अब तक की जा चुकी है। खाद्य सुरक्षा विभाग के अनुसार औसतन 20 लाख से अधिक लोगों ने घर बैठकर इस सुविधा का लाभ लिया। जिससे शहर में कोरोना संक्रमण को रोकने में महत्वपूर्ण मदद मिली है। सभी ने ऑनलाइन, फोन और एप्प के माध्यम से आर्डर कर सुरक्षित रहते हए घरों में समान की डिलेवरी मंगाई है। खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकरियो ने लगातार जांच, आरोग्य सेतु, मास्क और हाइजीन रखते हुए लोगों तक समान पहुंचाने के लिये बेहतर व्यवस्था बनाई है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी डीके वर्मा ने बताया कि प्रतिदिन 16 घण्टे खाद्य विभाग के लोगों ने काम किया। एक-एक शिकायत को संज्ञान में लिया, दुकानो और स्टोर्स पर बेहतर समन्वय के साथ सभी सुरक्षा मानकों का पालन कराया गया। इतनी बड़ी चैन को चलाने के बाद भी कही भी संक्रमण फैलाने की घटना नही हुई। कंटेन्मेंट ज़ोन से किसी को पूरी तरह प्रतिबंधित रखते हुए सभी काम किये है जिससे कोरोना संक्रमण को शहर में फैलने और आम जनता तक समान की उपलब्धता की सुविधा लगातार चलती रही हैं। इस सुविधा के मिलने से शहर के नागरिक घरों से बाहर नही निकले जिससे संक्रमण फैलने की संभावना भी कम हुई। पूर्व में कलेक्टर श्री पिथोड़े ने खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को प्रतिदिन इन स्टोर के निरीक्षण करने, सोशल डिस्टेंस मेन्टेन करने, गुणवत्ता पूर्ण खाद्य सामग्री विक्रय करने के निर्देश दिये थे।