ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
किसानों के सीने पर गोलियां दागने वाले कभी किसान हितेषी नहीं बन सकते। झूठे आंकड़ों से किसानों को गुमराह करना बंद करें शिवराज सरकार - नरेंद्र सलूजा
May 26, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

भोपाल - मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि कमलनाथ जी ने किसानों के लिए अपनी सरकार के 15 माह में जो काम किए वह ऐतिहासिक होकर इतिहास में दर्ज हो चुके हैं , वहीं दूसरी तरफ पिछले 15 वर्षों में जो खुद को किसान पुत्र बताते थे , उन्होंने किसानों के सीने पर गोलियां दागी ,कपड़े उतारकर उन्हें थानों में बंद किया ,उन पर झूठे मुकदमे लादे ,खाद मांगने पर उन पर लट्ठ बरसाए , वह आज झूठे आंकड़ों से किसानों को बरगलाने व गुमराह करने में लगे हुए है।उनकी सच्चाई प्रदेश का किसान जानता है। यह वही लोग हैं जिन्होंने अपने घोषणापत्र में कर्ज माफी का वादा किया और सत्ता में आते ही मुकर गए।जिन के राज में देश में सर्वाधिक किसान कर्ज के बोझ तले दबे होने के कारण मध्यप्रदेश में आत्महत्या करते थे , जिनके राज में खेती घाटे का धंधा बन चुकी थी और शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री रहते खुद कहते थे कि किसान खेती छोड़ नौकरी -उद्योग लगाएं क्योंकि खेती घाटे का धंधा बन चुकी है।वह आज झूठे किसान हितेषी बन किसानों को गुमराह व भ्रमित करने का काम कर रहे हैं। सलूजा ने बताया कि कमलनाथ सरकार ने 15 माह में ही अपने वादे के मुताबिक लाखों किसानों का कर्ज माफ किया , वहीं भाजपा की सरकार अपने 2 माह के कार्यकाल में ही वापस किसानों को कर्जदार बनाने में लगी है और कर्ज माफी से साफ मुकर रही है।कमलनाथ जी मुख्यमंत्री रहते ओला-पाला से प्रभावित किसानों के खेतों में खड़े होकर कभी भी फोटो खिचाने नहीं गए , उन्होंने कार्यालय में बैठकर उस किसान के लिए राहत राशि भेजी।जबकि सच्चाई सभी जानते हैं शिवराज जी मुख्यमंत्री रहते जिन किसानों के खेतों में फोटो खिंचाने जाते थे ,उन्हें ही राहत राशि कभी नहीं मिलती थी।मंदसौर बाढ़ प्रभावित किसानों को जो सहायता कमलनाथ सरकार ने प्रदान की वह आज ऐतिहासिक होकर इतिहास में दर्ज हो चुकी है।बीमा राशि की सच्चाई भी सभी जानते हैं कि शिवराज जी ने अपनी सरकार के समय बीमा राशि का अंशदान जमा नहीं किया ,जिसके कारण किसानों को बीमा राशि का फायदा नहीं मिल सका। वर्तमान शिवराज सरकार गेहूं खरीदी के झूठे व फर्जी आंकड़े जारी कर किसानों को बरगलाने व गुमराह करने का काम कर रही है।पूरे प्रदेश ने देखा है किस प्रकार सागर व मंदसौर में उत्तर प्रदेश का गेहूं खरीदा गया , प्रदेश के कई हिस्सों से पीडीएस का गेहूं गायब है ,गरीबों को नहीं मिल रहा है।कांग्रेस को यह भी शिकायतें मिल रही है कि यह गेहूं भी उपार्जन केंद्रों पर आँकड़ा बढ़ाने के लिये खपा दिया गया है। सलूजा ने कहा कि बड़ा ही शर्मनाक है आगर मालवा में एक किसान की खरीदी केंद्र पर मौत होने पर संवेदना व्यक्त करने व माफी मांगने की बजाय भाजपा इस मुद्दे पर भी घृणित राजनीति कर कांग्रेस को झूठा कोसने का काम कर रही है।