ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
लाक डाउन अवधि मं लर्निग लास को दृष्टिगत रखते हुए डिजिटल लर्निग शैक्षणिक गतिविधियां संचालित की जा रही है - आयुक्त राज्य षिक्षा केंद्र
May 19, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

उमरिया - आयुक्त राज्य षिक्षा केंद्र लोकेष जाटव द्वारा लॉकडाउन अवधि में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन करने के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि लॉकडाउन अवधि में संभावित लर्निंग लॉस को दृष्टिगत रखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा डिजिटल लर्निंग के विभिन्न माध्यमों का उपयोग कर शैक्षणिक कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने किए जा रहे प्रयासों की सफलता हेतु यह आवश्यक है किए छात्रों को उपलब्ध कराई जा रही सामग्री का परिवीक्षण शिक्षकों द्वारा किया जाए एवं अभिभावकों को भी बच्चों की शिक्षा में रुचि लेने के निरंतर प्रयास किए जाएं। इसी क्रम में 17 मई 2020 से प्रति सप्ताह एक विषय पर राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में प्राप्त प्रविष्टियों में से सर्वश्रेष्ठ प्रविष्ठियों को राज्य स्तर से प्रकाशित होने वाले संकलन में सम्मिलित किया जाएगा। प्रतियोगिताओं के समूह बार शीर्षक एवं विवरण इस प्रकार है । प्रथम सप्ताह-17 मई से 23 मई पात्र वर्ग-प्रथम समूह कक्षा 6.8ए द्वितीय समूह कक्षा 9.12 चिन्हित विषय-लॉकडाउन डायरी है। विद्यार्थियो के लिए आयोजित यह प्रतियोगिता दो समूहो मं आयोजित की जाएगी। प्रथम समूह के विद्यार्थी कक्षा 6 से 8 तक के होगे। जिन्हें 100 से 150 शब्द तक के लेख तथा द्वितीय समूह मं कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थी होगेए जिन्हें 200 से 250 शब्दों में लाक डाउन अवधि में उनके अनुभवों को सुलेख के रूप में लिखकर प्रेषित करना होगा

द्वितीय सप्ताह 24 मई से 30 मई तक पीढियो का ज्ञान धरोहर विषय पर अधारित होगा। चिन्हित विषय हेतु भाग लेने वाले विद्यार्थी के घर के वरिष्ठ सदस्य से यह अपेक्षा होगी कि वे 1 से 2 पेज में अपने जीवन के ऐसे अनुभव लिख भेजे जिसमें कभी वर्तमान कोरोना संकट जैसे अन्य राष्ट्रीयए वैश्विक संकट का सामना करना पड़ा होए तो उस समय समाज ने उसका कैसे सामना किया। या वर्तमान लॉकडाउन में उन्होंने कैसे अपने घरए परिवार के विद्यार्थी बच्चों को अनुभवों की सीख प्रदान की या उन्हें शैक्षिक प्रोत्साहन प्रदान किया। तृतीय सप्ताह- 31 मई से 6 जून तक आयोजित होगा। जिसका विषय है परवरिष (विद्यार्थी को पालकों का सहयोग) । इस वर्ग में विद्यार्थियों के माताए पिताए पालक अभिभावक पात्र होगे। आयोजित इस भावनात्मक आयोजन से शैक्षिक जागरूकता में पालकों की सहभागिता निहित होगी। सहभागिता करने वाले पालकों से यह अपेक्षा होगी कि वे 1 से 2 पेज में यह लिख प्रेषित करें किए वर्तमान कोरोना संकट के लॉकडाउन के समय में कैसे उन्होंने अपने बच्चे को शैक्षिक और रचनात्मक गतिविधियों से जोड़ने में सहयोग किया।

चतुर्थ सप्ताह-7 जून से 13 जून होगा । चिन्हित विषय नया हुनर है। मैंने सीखा (विद्यार्थियों द्वारा लॉकडाउन के समय में सीखी गई कोई रचनात्मक या पारंपरिक गतिविधि यथा कोई नया खेल चित्रकला लेखन अभिनय नृत्य लोककला गायन वादन पाककला गृहपयोगी कार्यए तकनीकी कौशल आदि) सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिये आयोजित नवसृजन की इस गतिविधि कोए विद्यार्थी के सर्वांगीण विकास की दृष्टि से आयोजित किया जा रहा है। इस गतिविधि में सहभागिता करने के लियेए विद्यार्थी अपनी रुचि अनुसार विद्या कोए अपने आस-पास या परिवार में उपलब्ध संसाधनोंए अवसरों से सीखने के लिये प्रेरित होंगेइसमें भाग लेने वाले विद्यार्थी से यह अपेक्षा होगी किए वे अपने द्वारा सीखी गई विद्या के बारे में एक पैराग्राफ लिखकरए उस कार्य में स्वयं की संलग्नता का एक फोटो भी प्रेषित करेंपंचम सप्ताहए 14 जून से 20 जून होगा। शासकीय शाला में पदस्थ शिक्षकों हेतु चिन्हित विषय शैक्षिक नवाचार (शिक्षकों द्वारा लॉकडाउन के समय अपनायी गयीं नवाचारी शैक्षिक गतिविधिया स्वयं की क्षमता संवर्धन हेतु संपादित कार्य अथवा अन्य कोई प्रेरक कार्य) हैं । शैक्षिक सत्र के समापन और नवीन सत्र के प्रारंभ होते समय में अचानक आयी अप्रत्याशित घड़ी मेंए कैसे शिक्षकों ने राष्ट्र निर्माता की भूमिका निभाई ह कैसे अपने शिक्षक दायित्व का निर्वाह किया कैसे इस समय का सदुपयोग स्वयं की व्यवसायिक दक्षता के संवर्धन के लिये किया और कैसे अन्य कोई प्रेरक कार्य किये सहभागिता के इच्छुक शिक्षकों से यह अपेक्षा होगी किए लॉकडाउन के समय अपनायी गयीं नवाचारी शैक्षिक गतिविधिया स्वयं की क्षमता संवर्धन हेतु संपादित कार्य अथवा अन्य कोई प्रेरक कार्यए जिसे उनके द्वारा किया गया हो. उसके संदर्भ में अधिकतम ए-4 आकार के दो टकित पृष्ठ अथवा हस्तलिखित ढाई पृष्ठ मेंए उस कार्य अनुभव को समाहित कर प्रेषित करें। जिला षिक्षा अधिकारी एवं जिला समन्वयक सर्व षिक्षा अभियान उमेष धुर्वे तथा एपीसी बृजेष शर्मा ने अधिक से अधिक विद्यार्थियों से प्रविष्टि भेजने की प्रक्रिया- प्रविष्टि अपने एक फोटो और व्यक्तिगत विवरण यथा भेजने की प्रक्रिया- प्रविष्टि अपने एक फोटो और व्यक्तिगत विवरण यथा नामए पदनामए पदस्थ संस्थास्कूलए वाट्सएप मोबाइल नंबर एवं पते के साथ वाट्सएप नंबर 9968556947 पर संबंधित प्रतियोगिता की अंतिम तिथि तक प्रेषित कर सकेंगे।