ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
LAC पार देखी गई एंबुलेंस की आवाजाही, झड़प में चीनी सेना को जबरदस्त नुकसान*
June 17, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • देश / विदेश

*LAC पार देखी गई एंबुलेंस की आवाजाही, झड़प में चीनी सेना को जबरदस्त नुकसान* ●हिंसक झड़प में चीनी सेना के कमांडिंग अफसर की भी मौत ●सूत्रों के मुताबिक- चीनी सेना के 40 से अधिक जवान हताहत लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत और चीन की सेना के बीच झड़प को लेकर बड़ी खबर आ रही है. झड़प के दौरान चीनी सेना के कमांडिंग अफसर की भी मौत हो गई है. सूत्रों का कहना है कि इस झड़प में चीनी सेना के 40 से ज्यादा सैनिकों के मारे जाने की खबर है. लोगों के लिए श्रीनगर-लेह हाईवे को बंद कर दिया गया है. इस बीच एलएएसी पर चीन की हिमाकत जारी है. कल से लगातार बातचीत चल रही है, लेकिन चीन के तेवर ढीले नहीं पड रहे. एलएसी पर लगातार तनाव बना हुआ है. भारतीय सेना ने लद्दाख के अलावा एलएसी के बाकी हिस्सों पर भी अलर्ट बढ़ा दिया है. श्रीनगर-लेह हाईवे को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है. सूत्रों से खबर आ रही है कि हिंसक भिडंत में चीनी सेना को भारी नुकसान पहुंचा है. गलवान के उपर चीनी हेलिकॉप्टरों को उडते देखा गया है. गलवान नदी के किनारे चीनी पोस्ट की तरफ एंबुलेंस की आवाजाही देखी गई है. सूत्रों का कहना है कि इस झड़प में चीनी सेना के 40 से अधिक जवान मारे गए हैं. *क्या है पूरा मा्मला* गौरतलब है कि 1962 के बाद पहली बार भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है. जिस तरह से लद्दाख के गलवान इलाके में चीन ने धोखे से निहत्थे भारतीय सैनिकों पर हमला किया, उसने चीन के कुटिल इरादों को बेपर्दा कर दिया. हिंसक झड़प की घटना 15-16 जून की की रात हुई. भारत सैनिकों का दल कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू की अगुवाई में चीनी कैंप में गया था. भारतीय दल चीनी सैनिकों के पीछे हटने को लेकर बनी सहमति पर बात करने गई थी, लेकिन वहां भारतीय सैनिकों को चीन का धोखा मिला. बॉल्डर, पत्थर, कंटीले तारों और कील लगे डंडों से चीनी सैनिकों ने हमला बोला. इस हिंसक झड़प में कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू और दो जवान मौके पर शहीद हो गए थे और कई सैनिक जख्मी हो गए थे. कई जख्मी सैनिक इलाके में शून्य से कम तापमान की वजह से अपने जख्मों से उबर नहीं पाए और शहीद हो गए. भारत की तरफ से जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक 20 जवान शहीद हुए हैं. हिंसक झड़प के दौरान भारत का जवाब इतना तगड़ा था कि चीनी सेना के कमांडिंग अफसर समेत कई जवान के मौत की खबर है. सूत्रों का कहना है कि 40 से अधिक चीनी सैनिकों की मौत हो गई है. झड़प जिस प्वाइंट पर हुई उसके ठीक नीचे उफनती हुई श्योक नदी बहती है. कई सैनिकों के नदी में बहने की खबर है.