ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
मध्य प्रदेश के युवाओं को नौकरी देने के नाम पर फिरछलावा कर रहे हैं शिवराज
August 18, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • राजधानी - भोपाल

विधानसभा उपचुनाव को देखते हुए युवाओं को लुभाने का षड्यंत्र: विभा पटेल

भोपाल

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रवक्ता एवं पूर्व महापौर श्रीमती विभा ने कहा है कि सरकारी नौकरियों में मध्य प्रदेश के लोगों को ही मौका देने की बात कहकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान एक बार फिर मध्य प्रदेश के युवाओं के साथ छलावा कर रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के इस फैसले को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पिछले कार्यकाल कार्यकाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने मध्य प्रदेश की सरकारी भर्तियों में दूसरे प्रदेशों के युवाओं को नौकरी में न लेने के लिए कोई प्रावधान नहीं किएए बल्कि पीएससी और व्यापमं के अंतर्गत होनेवाली भर्ती परीक्षाओं में मध्य प्रदेश के निवासी होने की अनिवार्यता समाप्त भ्रष्टाचार के माध्यम से काली कमाई जुटाने के लिए उन्होंने दूसरे प्रदेशों के लोगों को भरपूर नौकरियां देकर प्रदेश के युवाओं को साथ नाइंसाफी की है।

श्रीमती पटेल ने कहा कि चूंकि मध्यप्रदेश में निकट भविष्य में 27 सीटों पर विधानसभा के उपचुनाव होना है। इसलिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने युवा वर्ग को लुभाने के लिए इस साजिश ऐलान किया है। वास्तव में यदि मुख्यमंत्री की मंशा मध्य प्रदेश के नौजवानों को ही नौकरी देने की होती तो सरकारी नौकरियों के साथ साथ निजी क्षेत्रों मेंए यहां स्थापित होने वाले उद्योग फैक्ट्रियों में मध्यप्रदेश के युवाओं को ही नौकरियां मिलेंए ऐसा प्रावधान करवाना चाहिए। अभी हाल में जेल विभाग विभाग ने प्रहरियों की भर्ती के लिए जो आवेदन आमंत्रित किए हैंए उसमें सिर्फ मध्य प्रदेश के युवाओं को ही मौका देना चाहिए थाए लेकिन मध्य प्रदेश सरकार ने देश भर से जेल प्रहरियों की भर्ती के लिए आवेदन बुलाए हैंइस पर शिवराजसिंह चैहान स्थिति स्पष्ट करें

 

कांग्रेस प्रवक्ता श्रीमती पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने ने अपने पिछले कार्यकाल में मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग के नियमों में में बदलाव कर बाहरी लोगों के लिए अवसर प्रदान किए थे। साथ ही व्यापमं द्वारा आयोजित परिवहन आरक्षक एवं अन्य विभागों की भर्तियों में दूसरे प्रदेशों के लोगों को मध्यप्रदेश के मूल निवासी होने के फर्जी दस्तावेज तैयार करवाकर नौकरियां प्रदान की गईंए जिसमें महाराष्ट्र के गोंदिया जिला के लोगों को भी परिवहन आरक्षक की नौकरी देने का मामला सामने आया था।

श्रीमती पटेल ने कहा कि शिवराज सिंह चैहान ने 15 साल मुख्यमंत्री रहने रहने के बावजूद मध्य प्रदेश के युवाओं के लिए कुछ नहीं किया। जबकि कांग्रेस सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ ने महज 15 महीने के कार्यकाल में मध्य प्रदेश के युवाओं के लिए नौकरियों के अवसर पैदा किएए निजी क्षेत्र में भी प्रदेश के मूल निवासियों के लिए 70 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की थी।

श्रीमती पटेल ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान की मंशा मध्य प्रदेश के युवाओं को रोजगार के अवसर और नौकरी देने के हित में हैए तो उन्हें तत्काल नियमों में बदलाव कर मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोगए प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड एवं अन्य सभी भर्तियों में मध्य प्रदेश के युवाओं को ही मौका देने का नियम बनाना चाहिए। साथ ही निजी क्षेत्र में भी मध्य प्रदेश के युवाओं को नौकरी देने का प्रावधान सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

श्रीमती विभा पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ऐसा नहीं करते हैं तो वे युवाओं को झूठे आश्वासन देकर उन्हें बरगलाने की कोशिश न करें। मध्य प्रदेश का युवा भारतीय जनता पार्टी की सरकार की की साजिशां और चालाकियों को अब पूरी तरह समझ चुका है। शिवराज शिवराज जीए धूल में ल्छ घुमाने से कुछ नहीं होगाए हकीकत में काम करके दिखायेंए वरना आगामी उपचुनाव नजदीक हैए युवाओं के साथ छलावे की गूंज से पूरी भाजपा को जमीदोज होने से कोई नहीं रोक पायेगा।