ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
मध्यप्रदेश के लोगो को राहत मध्यप्रदेश में नही बढ़ेंगे जमीनों के दाम
June 30, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

प्रदेश सरकार ने जनता को राहत देने के लिए इस बार कलेक्टर गाइडलाइन में जमीनों के दाम नहीं बढ़ाने का निर्णय लिया है। 2019-20 की गाइडलाइन के दरें ही 2020-21 में यथावत रहेंगी।

 भोपाल - लॉकडाउन के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने जनता को राहत देने के लिए इस बार कलेक्टर गाइडलाइन में जमीनों के दाम नहीं बढ़ाने का निर्णय लिया है। 2019-20 की गाइडलाइन के दरें ही 2020-21 में यथावत रहेंगी। हालांकि, निर्माण दरों में वृद्धि की गई है, यह एक जुलाई से लागू हो जाएगीइसको लेकर सोमवार को केंद्रीय मूल्यांकन बोर्ड की बैठक सं) न्न हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रदेश की किसी भी लोकेशन में जमीनों के दाम नहीं बढ़ाए जाएंगेनई गाइडलाइन एक जुलाई से लागू होगी। केंद्रीय मूल्यांकन बोर्ड के अध्यक्ष सुखवीर सिंह ने बताया कि भो) लि, जबल) र, मंडला, नरसिंह) र, सिवनी, बैतूल, अशोक नगर एवं ) न्न जिले में कोई भी नई लोकेशन तय नहीं की गई है। वहीं, त्रुटि सुधार का भी प्रस्ताव नहीं किया गया है। वहीं, अन्य 43 जिलों में कुछ लोकेशनों में त्रुटि सुधार व नई लोकेशन जोड़कर क्षेत्र प्रबंधन किया जाएगा। इस प्रस्ताव को अनुमति दी गई है। उन्होंने बताया कि 2019-20 में प्रचलित उ) बंधों में कोई संशोधन नहीं किया गया है। लिहाजा, रजिस्ट्री ) राने 3) बंधों के आधार ) र ही की जा सकेगीबता दें कि नई निर्माण दरें केवल आरसीसी निर्माण ) र ही लागू होंगी। आरबीसी, चि) गार्डर फर्शी की छत, टीन शीट, अंग्रेजी टाइल्स की छत, कच्चा और कवेलू निर्माण ) र नई दरें लागू नहीं होंगी। नगर निगम क्षेत्र में 1200 रु) ये वर्गफीट लगेगी निर्माण लागत बता दें कि राज्य सरकार ने शहरी क्षेत्रों में रजिस्ट्री के लिए मकान की निर्माण लागत (कंस्ट्रक्शन कॉस्ट) में सीधे 50 प्रतिशत की वृद्धि की थीवाणिज्यिककर विभाग के मुताबिक शहरों में कंस्ट्रक्शन कॉस्ट अभी 800 रु) ये प्रति वर्ग फीट है, जो एक जुलाई से 1200 रु) ये वर्गफीट हो जाएगी। जबकि, नगर निगम सीमा से सटे इलाकों में कॉस्ट 900 रु) ये से बढ़कर 1100 रु) ये (22.22 प्रतिशत), नगर )लिका क्षेत्र में 800 से 950 रु) ये (18.75 प्रतिशत) और नगर ) रिषद में 500 से बढ़कर 600 रु) ये (20) प्रति वर्ग फीट हो जाएगी। ) जीयन ) रानी रजिस्ट्री ) रानी कीमतों में ही होगी। बता दें कि )ि छली सरकार ने गाइडलाइन कीमतों में ही होगी। बता दें कि )ि छली सरकार ने गाइडलाइन में जमीनों के दाम 20 प्रतिशत घटा दिए थे। उसके बाद यह निर्णय आम जनता को राहत देगा।

ऐसे समझें - 750 वर्गफीट का निर्माण 37.5 हजार रु) ये तक बढ़ जाएगा भो)ल में कलेक्टर गाइडलाइन के हिसाब से 1000 वर्गफीट के प्लॉट की कीमत 20 लाख रु) ए है। इसका निर्माण क्षेत्र 750 वर्गफीट होता है, ऐसे में 800 रु) ये वर्गफीट के हिसाब से इसकी निर्माण लागत 6 लाख रु) ये है। ऐसे में घर की कुल कीमत 26 लाख रु) ये के आस)स होगी। इस ) र रजिस्ट्री खर्च 12.5 प्रतिशत के हिसाब से 3.25 लाख रु) ए होता है। एक जुलाई से कलेक्टर गाइडलाइन रानी रहेगी, लेकिन प्रति वर्ग फीट निर्माण लागत 1200 रु) ये हो जाएगी। इससे निर्माण लागत 9 लाख रु) ये होगी। इससे घर की कीमत 29 लाख हो जाएगी। 12.5 प्रतिशत के हिसाब से रजिस्ट्री का खर्च 3.625 लाख रु) ए तक हो जाएगा।