ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
मध्यप्रदेश में आज पहुंच गया मानसून; सीजन की पहली बारिश बैतूल में हुई,
June 15, 2020 • Mr. Dinesh Sahu

मध्यप्रदेश में आज पहुंच गया मानसून; सीजन की पहली बारिश बैतूल में हुई, 15 मिमी पानी गिरा, कुछ देर के लिए चली तेज हवाओं के कारण लिंक रोड नंबर-2 पर पत्ते उड़ने लगे। बैतूल और सिवनी से होते हए छत्तीसगढ़ से आगे बिहार की तरफ निकल गया मानसून मौसम विभाग की संभावना- भोपाल में अगले तीन दिन में मानसून से बारिश हो सकती है भोपाल. मध्य प्रदेश में मानसून प्रवेश कर गया है।बैतूल में पहली बारिश से बीते 24 घंटे में15 मिमी पानी बरस गया। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अभिजीत चक्रवर्ती ने बताया कि मध्यप्रदेश में मानसून सेट हो गया है। यह अबसाउथ ईस्ट के बैतूल और सिवनी को छूते हुएछत्तीसगढ़ और बिहार से आगे बढ़ रहा है। मानसून में नमी आने से प्रदेशभर में बारिश शुरू हो गई है। अगले 24घंटे में शहडोल, जबलपुर, होशंगाबाद, इंदौर और उज्जैन संभागों के जिलों के अधिकांश स्थानों पर गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा रीवा, सागर और भोपाल में भी बारिश की संभावना है, जबकि ग्वालियर और चंबल संभागों में कहीं-कहीं पानी गिर सकता है। राजधानी में शनिवार की शाम बादल छाने के बाद भोपाल की बड़ी झील का एक दृश्य। राजधानी में दो दिन से तेज हवाओं के साथ कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी हो रही है। भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग ने अगले24 घंटे के दौरान अलीराजपुर, बड़वानी, बैतूल, खंडवा, खरगौन, झाबुआ, अनूपपुर, हरदा, डिंडोरी, जबलपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी में कहीं-कहीं भारी बारिश की चेतवानी जारी की है। इसके साथ रीवा, सागर, भोपाल, ग्वालियर और चंबल संभागों में कुछ जगहों पर गरज-चमक के साथ बिजली चमकने और गिरने की संभावना है। गुना और ग्वालियर सबसे गर्म रहा प्रदेश में गुना और ग्वालियर सबसे गर्म रहा। यहां पर अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इधर, भोपाल में न्यूनतम तापमान 25.6 डिग्री सेल्सियस सामान्य रहा। शनिवार को प्रदेश के 19 जिलों में बारिश हुई मध्यप्रदेश में शनिवार को दोपहर बाद प्रदेश के 19 जिलों में जमकर बारिश हुई। मानसून की दोनों शाखाएं बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में ज्यादा सक्रिय हैं। इसके अलावा 19 डिग्री उत्तरी अक्षांश पर एक सियर जोन बना है। पिछले 24 घंटे में छिंदवाड़ा जिले के जुन्नारदेव में सबसे ज्यादा 100 मिमी बारिश हुई। इसके अलावा,हरदा में 60 मिमी, देवास जिले के खातेगांव में 60 मिमी, झाबुआ जिले के मेघनगर में 74 मिमी तक पानी गिरा। प्रदेश के 19 जिलों के ज्यादातर इलकों में जमकर बारिश हुई।