ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
नरोत्तम मिश्रा जी,आसुरी शक्तियां तो वे हैं जिनके आते ही देश नोटबन्दी, मंहगाई,उद्योग- धंधों,बेरोजगारी,सीमाओं पर तनाव,सैकड़ों जवानों की शहीदी के साथ बर्बाद हो रहा है! - के के मिश्रा
August 4, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

 

कोरोना महामारी के 17 लाख से अधिक संक्रमितों के आंकड़ों के साथ 36 हजार से अधिक मौतों को पार कर चुका है!! आसुरी शक्तियों के रूप में तो वे लोग हैं, जिन्हें हिंदुओं की धार्मिक आस्थाओं से जुड़े सिंहस्थ महाकुंभ,मां नर्मदा-सेवा यात्रा,नर्मदा तट पर कागजों पर लगाये गए 6.67 करोड़ पौधे रोपने,मां का सीना चीरते हुए निकली जा रही अवैध रेत का उत्खनन कर करोड़ों-अरबों रु. खाने में भी कोई गुरेज नहीं है!*

. *आसुरी शक्तियां तो वे हैं जो मंदिर निर्माण,धार्मिक आयोजनों के नाम पर करोड़ों खा जाती हैं,गुंडों-बदमाशों,माफियाओं को पालती हैं,हत्यारों को देवस्थलों पर आत्मसमर्पण करवाती हैं!* *दैविक शक्ति के वाहक तो श्री कमलनाथ जी हैं, जिन्होंने निजी रूप से छिंदवाड़ा में करोड़ों रु.खर्च कर रामभक्त हनुमान का मंदिर का निर्माण कर अपनी निजी धार्मिक भावनाओं का प्रकटीकरण किया,अपने शासनकाल में महाकाल,ओम्कारेश्वर,महेश्वर,ओरछा के रामराजा मंदिर के जीर्णोद्धार-विकास कार्यों के लिए करीब 500 करोड़ रु.की महती योजनाएं स्वीकृत की हैं......जिनके कारण ही उक्त उल्लेखित सभी आसुरी शक्तियां प्रदेश छोड़ कर भाग गईं थी,जो अब फिर प्रकट हो रहीं हैं!!* *क्या उन कमलनाथ जी के निवास पर पूजन-पाठ हनुमान चालीसा के पाठ पर भी आप/किसी को आपत्ति होनी चाहिए???* *नरोत्तम जी सच्चा ईश्वर भक्त धर्म,सच्चाई,परोपकार,इंसानियत को प्रतिबद्ध होता है,पाप-अनाचार के लिए नहीं....?अब आप ही सोंचिये आप जिस पंक्ति में खड़े हैं,अब आप ही बताइए श्राप के पात्र कौन-कौन हैं,क्या ईश्वरीय चमत्कार के आगे वे बच पाएंगे???* *सादर* *के.के.मिश्रा*