ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
नियमों को ताक में रखकर विभाग की मिली भगत से एक लाइसेंस पर सैकड़ो शराब दुकान संचालित कर रहा है शराब ठेकदार
June 19, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

 

फोटो :- अवैध शराब परिवहन के  लिए जीप में भरते  हुए

फोटो :- शराब की पेटिया बच्चों से -ट्रक से खाली करवाते  ठेकदार के  लोग(फाइलफोटो)

शासकीय शराब दुकान का

(सुनील जोशी ) जोबट । स्थानीय शासकिय शराब दुकान आयन दिन विवादो में घीरी रहती है फिर चाह मामला बच्चों सा शराब की पटिया ढूलाई करवाना होए चाह शराब बिक्री दर को सुनील जोशी पत्रकार अलीराजपुर: बच्चों स शराब की पटियाट्रक स उतरबात हुए (फाइल फोटो) लकर हो । दखा जा रहा है कि जोबट की शासकिय दशीविदशी शराब की इन दुकानो पर शराब क दाम ग्राहक दखकर घट बढ जात है वही दुकान पर कोई रट लिस्ट नही रखी गई है जिसस दुकान पर आय ग्राहकों को शराब क रट पता नही चल पाता और ठकदार क गुर्गे ग्राहक स-मनमाफिक रट वसूलतजोबट की यह शासकिय शराब दुकान अवैध रूप स-बैखोफ आबकारी विभाग क ऑफिस स महज कुछ मीटर दूर ही है जहाँ स अल सुबह चार बज वाहनों में भर-भरकर ग्रामीण क्षत्रों में शराब थोक में बची जा रही है तथा अवैध शराब बचन वाल व ढाबा सचालकों को भी थोक में पटीयों का सप्लाय किया जा रहा है विदशी शराब दुकान पर लगभग हर रोज दो स तीन व ट्राल स शराब आ रही है लकीन एक दिन में इतनी मात्रा में शराब बचना सभव नही है तो फिर यह ट्रको स-खाली की गई शराब आखीर जाती कहा है जानकारी क अनुसार उक्त विदशी शराब दुकान पर सस्ती ओर अवैध शराब का भारी मात्रा में आयात कर ग्रामीण क्षत्रों में परिवहन की जाती है वहीअवैध रूप स लाई गई शराब कभी कभी खरची दाम सभी कम दामों पर आसपास क ग्रामीण क्षत्रों में जीप पिकअप वाहनों द्वारा धडल्ल-स-बची जा रही है कभी खरची दाम सभी कम दामों पर आसपास क ग्रामीण क्षत्रों में जीप पिकअप वाहनों द्वारा धडल्ल-स-बची जा रही है

वही नगर में ठक क समानासर सो स अधिक अवैध शराब की दुकान सचालित हो रही हैएकई लोग तो सीध शराब दुकान क पीछ स्थित गोडाउन स ही शराब की पटिया खरीद कर लन जात- दिन भर दख जा सकत है वही जैस ही शराब स भरा ट्राला दुकान पर खड़ा होता है जो गोडाउन में खाली होन-क बजाय रात्रि में ही वाहनों क मार्फत सीध ही ग्रामीण क्षत्रों में छोट-वाहनों क माध्यम स-परिवहन होजाता है। उक्त सारी जानकरी आबकारी को होन क बावजूद विभागअनभिग्य बना शराब तस्करी को प्रोत्साहन दन में लगा है । पुर्व में भी इस शासकिय शराब दुकान पर एक्पायरी डट की शराब बचन का मामला समाचार पत्रों में प्रकाशित हुआ था इसक बावजुद आबकारी विभाग न-इस दुकान पर किसी प्रकार की कार्यवाही नही की ए वही कुछ माह पूर्व भी बच्चो स-माल ढोन-सबधीत समाचार मय फोटो क प्रकाशित हुआ था लकिन कोई बड़ी कार्यवाही नही की गई वही दुकान में अहात। का सचालन भी किया जा रहा है जहा बैठकर ग्राहक शराब का व्यसन करत है एजिसक चलताइन शराब ठकदारों क होसलऔर बुलद होत नजर आ रहै हा

इनका कहना है

"जोबट का ठका राहुल शिवहर-न-23 करोड़ 81 रुपय में लिया है पूरा स्टाफ उदयगढ़ बोरी सजावाड़ा भाबरा में लगा हुआ है वहा में प्रत्यक्ष रूप स नही हू इसलिए वहा की जानकारी नही द सकता हूा कि वहा क्या चल रहा है कहन की स्थिति में नही हू ओर सज़वाड़ा में विभागीय सचालन में व्यस्त हैं"

संजय कावरे आबकारी विभाग जोबट