ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष पूर्व मंत्री
September 12, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • राजधानी - भोपाल

कोरोना से निपटने में मप्र की स्थिति लगातार खराब कोरोना को लेकर सरकार पूरी तरह विफल सिंधिया घुलनशील नहींए ज्वलनशील पदार्थ ---- जीतू पटवारी

भोपाल

मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने एक पत्रकार वार्ता में आरोप लगाया कि मप्र की जो वर्तमान सरकार लोकतंत्र की हत्या करके बनी हैए उसने प्रदेश को तबाह कर दिया हैए जनता आक्सीजन के लिए तरस रही है किसी अस्पताल में गरीबों के के लिए पलंग नहीं मिल रहे हैंए जबकि मुख्यमंत्री ने शपथ लेते ही कहा कहा था कि कोविड से लड़ाई में दो-दो हाथ करेंगे। जंग लड़ने की बात तो दूर उन्होंने प्रदेश की जनता को मरने के लिए बेसहारा छोड़ दिया। आज मध्यप्रदेश में हर दो मिनट में तीन मरीज कोरोना के सामने आ रहे है। हर 40 मिनट में एक मौत कोरोना से हो रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह खुद कोरोना से ग्रसित हो गएए उनके समेत 9 मंत्री और और 40 विधायक कोरोना से ग्रसित हो गएए क्या यह छोटी बात है पूर्व मन्त्री जीतू पटवारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि गद्दार के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी कोरोना से ग्रसित हो गएए प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ग्रसित हो गएए सुहास भगत ग्रसित हो गएए दो सांसद सांसद ग्रसित हो गएए कांग्रेस पार्टी के भी कुछ नेता कोरोना से ग्रसित हो गएए इस फैलाव में सरकार ने जनता को रामभरोसे छोड़ दिया हैपत्रकार वार्ता में मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने फोन से चिरायु अस्पताल और इंदौर के अरविंदो अस्पताल में फोन कर आईसीयू आईसीयू का हाल भी जानाए चिरायु अस्पताल में फोन अटेंड करने वाले ने पूर्व मंत्री को बताया कि अस्पतालों में बेड भर चुके हैए किसी को डिस्चार्ज करेंगे तो ही बेड खाली हो पाएंगेए जीतू पटवारी ने चार क्रिटिकल मरीजों को भर्ती करने के लिए फोन किया था। वही इंदौर में अरविन्दो अस्पताल के संचालक ने आईसीयू बेड होने से ही मना कर दिया।

पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के ग्वालियर में कार्यक्रम आयोजित आयोजित करने पर कहा कि उनके स्वागत करवाने के बाद ग्वालियर में कोविड मरीज तेजी से बढ़ गए हैं। इंदौर में कलश यात्रा निकाली जा जा रही हैए उसमें सात-आठ साल की बच्चियों के सिर पर कलश रखकर उन्हें कोरोना के खतरे में डाला जा रहा है। यह आपराधिक लापरवाही है। पटवारी ने सवाल पूछते हुए कहा कि मुख्यमंत्री आप कैसे कोरोना योद्धा हैए आपने अपनी सत्ता की हवस के कारण कोरोना से प्रदेश की स्थिति खराब कर दी। पटवारी ने मुख्यमंत्री से मांग कि है कि वे कोरोना पर एक श्वेत-पत्र जारी करे। मप्र में अस्पतालों में की कमी है। इसके साथ ही पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज को डरपोक मुख्यमंत्री करार दिया और कहा कि वे सिंधिया से डरते हैं।

जीतू पटवारी ने बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल सन्तोष के उस बयान पर जिसमें उन्होंने कहा था कि सिंधिया खेमा भाजपा में घुलमिल घुलमिल नहीं पा रहा हैए टिप्पणी की कि सिधिया जी घुलनशील नहींए ज्वलनशील पदार्थ हैंए यह तो होना ही था। __ पूर्व मन्त्री ने कहा कि बिजली बिलों पर मुख्यमंत्री नीयत साफ करें कि सरकार ने बिजली के बिल स्थगित किये या उन्हें समाप्त किया किया है। अगर बिल माफ किये है तो हम उनका सम्मान करेंगेए अन्यथा जनता के साथ यह एक और धोखा है। जीतू पटवारी ने कहा की कमलनाथ की सरकार ने 35००० शिक्षकों के तबादले आनलाइन किए थे और आज 1 महीने में ही शिक्षकों के 10 हजार ट्रांसफर आफलाईन किए हैंए बोरे भरकर माल इक्व हुआ है आटा आटा चोरी करने वाले और गरीबों को जानवरों का चावल सप्लाई करने वाले कुटिल और भ्रष्टाचारी कमलनाथ जी की ईमानदार छवि को चोट नहीं पहुंचा सकते। व्यापमं के हीरो को पूरी दुनिया जानती है। पटवारी ने कहा इस चुनाव में साफ हो जाएगा कि जनता ढोंगियों के झांसे में आती हैए गद्दारों को सबक सिखाती है या कमलनाथ की शुद्ध के लिए युद्ध नीति को अपना आशीर्वाद देती है