ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लेह में जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि विस्तारवाद का युग ख़त्म हो चुका है.
July 3, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • देश / विदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों से कहा, "आपकी इच्छाशक्ति हिमालय की तरह मज़बूत और दृढ़ है, पूरे देश पर आपको गर्व है." उन्होंने बताया कि सीमावर्ती इलाकों पर इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास पर खर्च बढ़ाकर तीन गुना कर दिया है 14 कोर की जांबाजी के किस्से हर तरफ है। दुनिया ने आपका अदम्य साहस देखा हैआपकी शौर्य गाथाएं घर-घर में गूंज रही है। भारत माता के दुश्मनों ने आपकी फायर भी देखी है और आपकी फ्यूरी भी:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार सुबह अचानक से लेह पहुंचे और उन्होंने वहां सीमा पर तैनात सैनिकों को संबोधित किया. उन्होंने अपने संबोधन में कहा है कि 14 कोर की जांबाजी के किस्से हर तरफ़ हैं. दुनिया ने आपका अदम्य साहस देखा है. आपकी शौर्य गाथाएं घर-घर में गूंज रही है.

पीएम ने कहा, "विस्तारवाद का युग समाप्त हो चुका है और अब विकासवाद का दौर है. तेज़ी से बदल रहे समय में विकासवाद ही प्रासंगिक है. बीती सदी में विस्तारवाद ने ही मानव जाति का विनाश किया. अगर किसी पर विस्तारवाद की ज़िद सवार हो तो हमेशा वह विश्व शांति के लिए ख़तरा होता है." नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. चीनी दूतावास की प्रवक्ता जी रोंग ने ट्वीट करते हुए कहा, "चीन के 14 पड़ोसियों में से 12 के साथ शांतिपूर्ण बातचीत के आधार पर सीमा का निर्धारण हुआ है और इसने ज़मीनी सीमा को दोस्ताना सहयोग के बंधन में बांध दिया है. चीन का उसके पड़ोसियों के साथ मतभेद को बढ़ा-चढ़ा कर, मनगढंत तरीके से पेश करना और उसे विस्तारवादी के रूप में देखना आधारहीन है." आप उसी धरती के वीर हैं, जिसने हजारों वर्षों से अनेकों आक्रांताओं के हमलों और अत्याचारों का मुंहतोड़ जवाब दिया है।हम वो लोग हैं जो बांसुरीधारी कृष्ण की पूजा करते हैं,

हम वहीं लोग हैं जो सुदर्शन चक्रधारी कृष्ण को भी अपना आदर्श मानते हैं: पीएम इससे पहले पीएम मोदी अचानक लेह पहुंचे. भारत के सरकारी न्यूज़ प्रसारक प्रसार भारती ने ट्वीट कर कहा है, "प्रधानमंत्री मोदी अभी निमु में हैं. वो आज ही सुबह पहुंचे हैं. पीएम सेना के जवानों, एयर फोर्स और आईटीबीपी से बात कर रहे हैं." केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भी ट्वीट करके कहा है कि पीएम मोदी के इस दौरे सेना का मनोबल बढ़ेगा. इस बीच अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भारत-चीन सीमा पर तनाव के लिए चीनी आक्रामकता ज़िम्मेदार ठहराया है. बुधवार को व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी केली मैकेनी ने अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप के हवाले से कहा, "भारत के साथ सीमा पर चीन की आक्रामकता चीन के व्यापक पैटर्न का हिस्सा है. चीन की यह आक्रामकता केवल भारत के साथ ही नहीं है बल्कि कई हिस्सों में है. इससे चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का असली चेहरा पता चलता है." ट्रंप ने तो पिछले महीने फॉक्स न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में कहा था कि वो चीन से सारे संबंधों को ख़त्म कर लें तो इससे अमरीका को फायदा होगा. एक जुलाई को राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था, "दुनिया भर में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता देख मेरा चीन पर गुस्सा बढ़ने लगता है. इससे अमरीका को भारी नुकसान हुआ है."

चीन एक साथ कई चीजें कर रहा है. उसने हॉन्ग कॉन्ग के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून पास किया है. इस कानून का अमरीका, ब्रिटेन समेत पश्चिम के कई देश विरोध करते रहे लेकिन चीन ने किसी की नहीं सुनी. इस कानून के पास होने के बाद हॉन्ग कॉन्ग की स्वायत्तता बचेगी या नहीं इस पर गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं. दक्षिण चीन सागर में भी चीन पर आक्रामकता और सैन्य निर्माण के आरोप लग रहे हैं. इसके साथ ताइवान की सरकार के साथ भी चीन की खटपट चल रही है. वीगर मुसलमानों के साथ चीन में जुल्म के गंभीर आरोप हैं और अमरीका इन सब पर भीलगातार खुलकर बोल रहा है.