ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
राहत की राह: पेंशन योजना से रांची की बुजुर्ग महिलाओं को लॉक डाउन में मिली राहत* ।
May 24, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • देश / विदेश

(राकेश शौण्डिक-राँची/झारखंड) *राहत की राह: पेंशन योजना से रांची की बुजुर्ग महिलाओं को लॉक डाउन में मिली राहत* । *: रांची के बुंडू ब्लाक के चाईंराम टोला सलगाधी गांव की कलावती देवी को कोरोना से तालाबंदी में दाल, चावल और विधवा पेंशन के तहत पैसे भी मिल रहे हैं, जिससे उन्हें बहुत सहूलियत है। झारखंड के बुजुर्गों, किसानों, महिलाओं, दिव्यांगों एवं मजदूरों को केंद्र सरकार ने पीएम गरीब कल्याण योजना (PMGKY) की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से उनके खातों में डीबीटी (डाइरेक्ट बेनिफ़िट ट्रांस्फर) के जरिये त्वरित आर्थिक सहायता देकर कोरोना संक्रमण से उपजे हालात में इन कमजोर वर्गों को सशक्त किया है। अब तक PMGKY के तहत सरकार ने 39 करोड़ से अधिक लोगों को 34,800/- करोड़ रुपए से ज्यादा की आर्थिक सहायता प्रदान की है। अगर हम महिलाओं, बुजुर्गों की बात करें तो, पेंशन योजना के अंतर्गत लगभग 2.82 करोड़ वृद्धों, विधवाओं और विकलांग व्यक्तियों को 1405 करोड़ रुपये पेंशन के रूप में वितरित किए गए हैं। उनके खाते में सरकार द्वारा प्रति माह 1000/- रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है। इसके अलावा सरकार ने 25.62 करोड महिलाओं के जनधन खातों में PMGKY के तहत अब तक 12,810 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए हैं। सरकार ने अप्रैल महीने में 36 राज्यों केंद्र शासित प्रदेशों में 60 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को 30 लाख टन खाद्यान्न वितरित किए हैं। मई में भी 12 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को अब तक 6 लाख टन से अधिक खाद्यान्न वितरित किया जा चुका है। राजधानी रांची के बुंडू ब्लॉक के चाईंराम टोला सलगाधी गांव की साबिया देवी अपने बारे में बताती हैं कि वो बूढ़ी हो गई हैं, कोई काम धंधा नहीं कर सकती हैं। ऐसे में सरकार उनको विधवा पेंशन दे रही है तो उन्हें बहुत सहूलियत है। इसी गांव की बारी देवी को कोरोना से तालाबंदी में वृद्धावस्था पेंशन मिलने से बहुत सहूलियत मिली है जिससे यह अपना गुजर-बसर करती है। अप्रैल से लेकर जून तिमाही के लिए मुफ्त राशन, महिला जनधन खाता धारकों के अकाउंट में 3 महीनों के लिए ₹500, किसानों को खेती में सहायता के लिए ₹2000 की किस्त एवं उज्ज्वला योजना अंतर्गत सिलिन्डर का भी बंदोबस्त किया गया है। प्रधानमंत्री अन्न योजना से देशभर के राशन कार्ड धारकों को अन्न और दलहन उपलब्ध कराया जा रहा है। उज्जवला योजना के अंतर्गत अब तक 4.82 करोड़ मुफ्त गैस वितरित किए गए हैं। सलगाधी गांव की ही संजावती और मन्ना देवी कहती हैं कि कोरोना से तालाबंदी में उन्हें राशन तथा खाते में वृद्धावस्था पेंशन मिलती है, जिससे उनका काम चल जाता है।