ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
रीवा जिले की हलचल कलेक्टर एवं कमिश्नर के प्रयासों से जिले के विकास की रखी जा रही इबारत ----------- कमिश्नर डॉ. भार्गव
June 13, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

 कमिश्नर डॉ. भार्गव ने रीवा संभाग की वेबसाइट का किया शुभारंभ संभाग की हर महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी ऑनलाइन - कमिश्नर रीवा 12 जून 2020. रीवा संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने कमिश्नर कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में रीवा संभाग की वेबसाइट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि प्रशासनिक व्यवस्थाओं में आधुनिक सूचना संचार तकनीक का उपयोग बढ़ता जा रहा है। हर व्यक्ति महत्वपूर्ण सूचना ऑनलाइन प्राप्त करना चाहता है। रीवा संभाग की वेबसाइट उनकी इस इच्छा की पूर्ति करेगी। आमजनता को एक क्लिक पर रीवा संभाग की सभी महत्वपूर्ण सूचनायें वेबसाइट पर प्राप्त होंगी। इसमें संभाग के महत्वपूर्ण समाचार, प्रशासनिक गतिविधियों, पर्यटन स्थलों तथा शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी उपलब्ध है। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि संभाग के सभी जिलों की महत्वपूर्ण जानकारियां छायाचित्रों के साथ संभागीय वेबसाइट में उपलब्ध है। यह वेबसाइट शासकीय तौर पर आमजनता को महत्वपूर्ण सूचनायें देने का सशक्त माध्यम सिद्ध होगी। वेबसाइट में शासन के सभी प्रमुख आदेश निर्देश भी उपलब्ध होंगे। इस वेबसाइट से कमिश्नर कार्यालय तथा संभागीय जनसंपर्क कार्यालय के सोशल मीडिया टूल्स जैसे फेसबुक एवं ट्विटर को भी जोड़ा गया है। इनके माध्यम से आडियो-विजुअल संदेश वेबसाइट में प्राप्त होते रहेंगे। इस वेबसाइट के माध्यम से देश ही नहीं विश्व के किसी भी कोने में रह रहा व्यक्ति रीवा संभाग से जुड़ी प्रशासनिक गतिविधियों की जानकारी प्राप्त कर सकता है। इस वेबसाइट का निर्माण प्रभारी जिला सूचना विज्ञान अधिकारी मनीष पटेल ने बड़े परिश्रम से किया है। उनके द्वारा संभाग के सभी विभागों की अद्यतन जानकारी एकत्रित कर वेबसाइट में प्रदर्शित की गयी है। इस अवसर पर कमिश्नर कार्यालय के अपर आयुक्त बीएल कुलेश, संयुक्त आयुक्त पीसी शर्मा, उपायुक्त केपी पाण्डेय, उप संचालक सतीश निगम उपस्थित रहे। बिजली बिल में सुधार बिलिंग सॉफ्टवेयर से हो, मेन्युअली नहीं - प्रमुख सचिव ऊर्जा रीवा 12 जून 2020. प्रमुख सचिव ऊर्जा संजय दुबे ने जबलपुर में बिजली कंपनियों के मुख्यालय से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बिजली वितरण कंपनियों के कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि उपभोक्ता के बिजली बिल में किसी भी प्रकार का परिवर्तन बिलिंग सॉफ्टवेयर के माध्यम से ही किया जाए। यह मेन्युअली नहीं होना चाहिये। मैदानी कनिष्ठ व सहायक अभियंता उपभोक्ता के विद्युत लोड की नियमित चेकिंग करें और लोड बढ़ने पर कार्रवाई करें। प्रमुख सचिव ने कहा कि डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी में मुख्य अभियंता से ले कर कनिष्ठ अभियंता स्तर तक के सभी अभियंता राजस्व वसूली पर विशेष रूप से ध्यान दें। बिजली चोरी पर कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने वितरण कंपनियों के पूंजीगत कार्यो, डिस्कॉम-ट्रांस्को-जेनको के मध्य समन्वय, हानियों को न्यूनतम करने, बिलिंग व राजस्व वसूली की क्षमता में बढ़ोत्तरी, केएफडब्ल्यू-एडीबी- जेआईसीए की वित्तीय सहायता से किए जा रहे कार्यो, वितरण ट्रांसफार्मरों की उपभोक्ताओं के साथ इंडेÏक्सग जैसे विषयों पर चर्चा की। प्रमुख सचिव ने चालू वित्तीय वर्ष में उनके सुचारू क्रियान्वयन पर सभी बिजली कंपनियों को समन्वय से कार्य करने को कहा। उन्होंने स्टेट लोड डिस्पेच सेंटर का अवलोकन कर उसकी कार्य प्रणाली की जानकारी भी ली। जिले को बाढ़ से बचाने के लिए सूचनाओं पर तत्परता से कार्यवाही करें – कलेक्टर बाढ़ से बचाव के लिए सभी तैयारियां समय रहते कर लें – कलेक्टर रीवा 12 जून 2020. कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में नवागत कलेक्टर इलैया राजा टी ने बाढ़ से बचाव एवं राहत प्रबंधों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिले के अधिकारियों को बाढ़ से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों की पूरी जानकारी है। इन क्षेत्रों का एसडीएम तथा अन्य अधिकारी भ्रमण कर लें। राजस्व, पुलिस, जल संसाधन तथा बाढ़ से संबंधित अन्य विभागों के बड़े से लेकर निचले स्तर तक के अधिकारियों, कर्मचारियों तक समय पर सूचनायें पहुंचाने के लिए पुख्ता व्यवस्था करें। वर्षा तथा जल स्तर के संबंध में प्राप्त सूचनाओं पर तत्परता से कार्यवाही करें। जिले को बाढ़ की विभीषिका से बचाने के लिए इससे जुड़ी हर सूचना पर तत्परता से कार्यवाही आवश्यक है। हमें बाढ़ आने पर राहत और बचाव के लिए बहुत कम समय मिलेगा। कलेक्टर ने कहा कि जिले में लगातार वर्षा होने अथवा भारी वर्षा होने पर सभी अधिकारी सचेत हो जायें। इस वर्ष अच्छी वर्षा होने तथा सिंचाई में पानी के कम उपयोग के कारण जलाशयों में एवं बांधों में पर्याप्त पानी भण्डारित है। कुछ घण्टों की तेज वर्षा भी बाढ़ की स्थिति ला सकती है। बाढ़ से राहत तथा बचाव के लिए पूरी तरह से तैयार रहें। बाढ़ संबंधी सूचनाएं देने के लिए व्हाट्सएप ग्रुप बना लें। इसमें अधिकारियों, कर्मचारियों के साथ बाढ़ प्रभावित प्रत्येक गांव से स्थानीय कर्मचारियों एवं जनप्रतिनिधियों एवं तथा जिम्मेदार नागरिकों को भी जोड़ें। जिला स्तर तथा खण्ड स्तर के बाढ़ कंट्रोल रूम 15 जून से आरंभ करके इन्हें 24 घण्टे संचालित करें। इसमें वर्षा के संबंध में सभी 12 केन्द्रों से प्रत्येक 6 घण्टे में जानकारी प्राप्त कर उसे रजिस्टर में दर्ज करने के साथ कम्प्यूटर में दर्ज करायें। सम्मिलित जानकारी को व्हाट्सएप के माध्यम से सभी अधिकारियों को प्रेषित करें। जिला स्तर के बाढ़ कंट्रोल रूम का नम्बर 07662-255142 है। इसके साथ-साथ यहां मोबाइल नम्बर भी रखें जिसमें व्हाट्सएप का उपयोग किया जा सके। इन नम्बरों का व्यापक प्रचार-प्रसार करायें। सीईओ जनपद वार्ड प्रभावित सभी गांवों के महत्वपूर्ण स्थलों पर इसे प्रकाशित करें। अन्य माध्यमों से भी इसका प्रचार-प्रसार करायें। बैठक में कलेक्टर ने त्योंथर क्षेत्र तथा रीवा शहर में बाढ़ के कारणों एवं उसके निदान के संबंध में विस्तार से चर्चा की। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को बाढ़ की स्थिति होने पर प्रभावित आवादी के सुरक्षित ठहरने के लिए राहत शिविरों के स्थल निर्धारण, इनके लिये भोजन, उपचार, पेयजल, प्रकाश एवं सुरक्षा की व्यवस्था के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बाढ़ के संबंध में सूचना देने के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों तथा स्थानीय निवासियों का भी सहयोग प्राप्त करें। रीवा शहरी क्षेत्र के सभी बड़े नालों तथा नालियों की नगर निगम 15 जून से पूर्व सफाई करा ले। बाढ़ से बचाव के लिए सतना जिले तथा उत्तरप्रदेश के अधिकारियों से सतत सम्पर्क में रहें। सभी बड़े बांधों तथा जलाशयों को अधिक वर्षा होने पर जल संचित हो सके इसके लिए खाली रखें। बैठक में अपर कलेक्टर इला तिवारी, सहायक कलेक्टर शिशिर गेमावत, संयुक्त कलेक्टर एके झा, एसडीएम मऊगंज माला त्रिपाठी, एसडीएम हुजूर फरहीन खान, एसडीएम सिरमौर संजीव पाण्डेय, एसडीएम मनगवां एके सिंह, नगर निगम के अधीक्षण यंत्री शैलेन्द्र शुक्ला, जनपद के सीईओ, सीएमओ तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। रीवा शहर के बिजली उपभोक्ता 3 केन्द्रों में दर्ज करा सकते हैं शिकायतें रीवा 12 जून 2020. रीवा शहर के बिजली उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए शहर में 3 शिकायत केन्द्र आरंभ किये गये हैं। इनमें बिजली उपभोक्ता अपनी शिकायतें दर्ज कराकर त्वरित समाधान करा सकते हैं। इस संबंध में अधीक्षण अभियंता पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी रीवा शरद श्रीवास्तव ने बताया कि पॉवर हाउस कैम्पस अमहिया में बनाये गये शिकायत केन्द्र में मार्तण्ड स्कूल, बिछिया, चिरहुला, गोड़हर, पड़रा तथा पॉवर हाउस अमहिया से जुड़े उपभोक्ता शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसका टेली फोन नंबर 07662-257322 एवं 255225 है। उन्होंने बताया कि नेहरू नगर शिकायत केन्द्र का टेली फोन नंबर 07662-250194 है। इसमें नेहरू नगर उप केन्द्र यूनिवर्सिटी, इंजीनियरिंग कालेज, रतहरा के उपभोक्ता अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। गोड़हर शिकायत केन्द्र में मोबाइल नंबर 9425424203 पर बिजली संबंधी शिकायतें दर्ज करायी जा सकती हैं। इसमें 11 केव्ही नगर निगम तथा इडंस्ट्रियल फीडर के उपभोक्ता शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। इसके आलावा बिजली उपभोक्ता टोल फ्री नंबर 1912 पर भी शिकायत दर्ज कर अपनी समस्याओं का समाधान प्राप्त कर सकते हैं। कोरोना से संक्रमित मृतक के शव के निपटान के लिए प्रभारी अधिकारी नियुक्त रीवा 12 जून 2020. कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैया राजा टी ने कोविड-19 के संदिग्ध एवं पुष्ट प्रकरणों में मृत्यु होने पर मृतक के शव का प्रबंधन एवं निपटान के लिए संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें द्वारा जारी निर्देशों का पालन करने के लिए कहा है। उन्होंने कोविड-19 के संदिग्ध एवं पुष्ट प्रकरणों में मृत्यु होने पर मृतक के शव का प्रबंधन एवं निपटान के लिए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभारी अधिकारी नियुक्त किये हैं। कलेक्टर ने आदेश दिये हैं कि नगर पालिक निगम रीवा के क्षेत्र में मृत्यु होने पर मृतक के शव के निपटान के लिए नगर पालिक निगम के स्वास्थ्य अधिकारी प्रभारी अधिकारी होंगे। इनका सहयोग शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम प्रभारी करेंगे। जनपद पंचायत क्षेत्र में पॉजिटिव मरीज की मृत्यु की दशा में जनपद पंचायत के सीईओ प्रभारी अधिकारी होंगे तथा विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी सहायक प्रभारी अधिकारी होंगे। नगर परिषद क्षेत्र में मुख्य नगर पालिका अधिकारी प्रभारी अधिकारी होंगे तथा विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी सहायक प्रभारी अधिकारी होंगे। कलेक्टर ने आदेश जारी किये हैं कि नियुक्त किये गये प्रभारी अधिकारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारी व्यक्तिगत रूप से उपस्थित रहकर शवों का प्रबंधन एवं निपटान सुनिश्चित करेंगे। दिशा-निर्देशों का पालन किया जाना प्रभारी अधिकारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारी का व्यक्तिगत दायित्व होगा। सहायक प्रभारी अधिकारी शव के प्रबंधन एवं निपटान हेतु आवश्यक सामग्री पीपीई किट, प्लास्टिक शव बैग, एप्रेन, ग्लब्स, मास्क तथा चश्मा उपलब्ध करायेंगे। शवों को अनावश्यक रूप से प्रयोगशाला से रिपोर्ट प्राप्ति तक शव गृह में नहीं रखा जायेगा तथा शव का यथा संभव न्यूनतम परिवहन किया जायेगा। कोरोना से जंग के लिए डॉ. वीना कुर्रे ने दिया पांच सौ पीपीई किट का सहयोग रीवा 12 जून 2020. देश ही नहीं पूरे विश्व में कोरोना महामारी का संकट मानव जीवन के लिए बड़ी चुनौती बनकर आया है। इस संकट से निपटने के लिए सरकार और प्रशासन द्वारा कई उपाय किये जा रहे हैं। आम जनता भी कोरोना संकट से उत्पन्न विषम परिस्थितियों में अपना जीवन बसर करते हुए इस संकट से निपटने में शासन-प्रशासन को भरपूर सहयोग दे रही है। इसी क्रम में डॉ. वीना कुर्रे एवं उनके पुत्र यशवद्र्धन कुर्रे द्वारा जिला चिकित्सालय के लिए कोरोना योद्धाओं के उपयोग हेतु पांच सौ पीपीई किट उपलब्ध कराये गये। इन पीपीई किट का उपयोग डॉक्टर्स, नर्स व अन्य चिकित्सकीय स्टाफ द्वारा किया जायेगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरएस पाण्डेय ने इन पीपीई किट को प्राप्त किया। इस दौरान डॉ. अक्षय श्रीवास्तव, डॉ. सुनील अवस्थी, डॉ. विमलचन्द्र पाण्डेय, डॉ. आशुतोष शुक्ला, डॉ. प्रदीप शुक्ला, विजय तिवारी एवं रमाकान्त द्विवेदी उपस्थित रहे। मास्क निर्माण प्रतियोगिता में सांसद स्वयं करेंगे भागीदारी जिले के युवाओं व नागरिकों से मेरा संकल्प मेरी सुरक्षा अभियान से जुड़ने की अपील की रीवा 12 जून 2020. कोरोना संक्रमण से बचाव व जागरूकता हेतु संचालित मेरा संकल्प मेरी सुरक्षा अभियान अन्तर्गत मास्क निर्माण प्रतियोगिता में रीवा संसदीय क्षेत्र के सांसद जनार्दन मिश्रा ने स्वंय भागीदारी करने की बात कही है। उन्होंने जिले के युवाओं व नागरिकों को से अपील करते हुए कहा कि पिछले 2 माह से उन्होंने हजारों की संख्या में स्वंय मास्क निर्माण कर जरूरतमंद व्यक्तियों को वितरित किया है। समुदाय को भी बढ़कर ऐसे अभियान में भागीदारी करनी चाहिए। उन्होंने जिला प्रशासन रीवा व जन अभियान परिषद द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव व जागरूकता हेतु संचालित मेरा संकल्प मेरी सुरक्षा अभियान की सराहना की है। विदित है कि कलेक्टर इलैया राजा टी के निर्देशन में जिले में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव व जागरूकता हेतु मेरा संकल्प मेरी सुरक्षा अभियान का संचालन किया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत कोरोना संक्रमण से बचाव व जागरूकता पर आधारित जागरूकता कार्यक्रम के अलावा सोशल मीडिया के माध्यम से ऑनलाइन सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिताओं में कोरोना संक्रमण से बचाव की 6 थीम विषयों पर लघु प्रेरक फिल्म निर्माण, प्रेरणा गीत लोक गायन, छायाचित्र/फोटोग्राफी, लोक मुनादी, कलात्मक मास्क निर्माण, रंगोली, पोस्टर/चित्रकला निर्माण, अनुपयोगी सामग्री से उपयोगी कलाकति निर्माण, मेंहदी प्रतियोगिता जैसी प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही है। मेरा संकल्प मेरी सुरक्षा अभियान का समन्वय कर रहे जिला समन्वयक म.प्र. जन अभियान परिषद प्रवीण पाठक ने बताया कि अभी तक विभिन्न प्रतियोगिताओं में बड़ी संख्या में युवाओं, छात्रों एवं हर आयु वर्ग नागरिकों द्वारा बढ़-चढ़कर भागीदारी की जा रही है। प्रतिदिन बड़ी संख्या में रंगोली, फिल्म निर्माण, लोकमुनादी, कलात्मक मास्क निर्माण, पोस्टर निर्माण, लोकगायन जैसी विधाओं में प्रविष्टियां ऑनलाइन प्राप्त हो रही है। जिले के नवनियुक्त जिला कलेक्टर इलैया राजा टी ने सभी नागरिकों से प्रतियोगिताओं में भागीदारी करने की अपील की है। प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने निकायों में एन्टी फ्लड वर्क शुरू होंगे रीवा 12 जून 2020. शहरी गरीबों एवं प्रवासी श्रमिकों को नगरीय निकायों में रोजगार दिये जाने हेतु बाढ़ से बचाव के लिये एन्टी फ्लड वर्क कार्य प्रारंभ करवाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये गये हैं। निकाय के अंतर्गत शहरी गरीब श्रमिक एवं प्रवासी श्रमिकों को लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए रोजगार उपलब्ध कराने के लिये एन्टी फ्लड वर्क के लिये कार्य स्थल का चयन कर शीघ्र कार्य प्रारंभ करने के लिये कहा गया है। मजदूरी का भुगतान 14वाँ और 15वाँ वित्त आयोग अंतर्गत दी गई अनुदान राशि से किया जायेगा। श्रमिकों को दिये जा रहे रोजगार की जानकारी निर्धारित प्रपत्र में ई-मेल से भेजने के निर्देश भी दिये गये हैं। अलोहा कार्यक्रम पर प्रतिभागियों से मांगे गये सुझाव रीवा 12 जून 2020. राज्य आनंद संस्थान ने अलोहा कार्यक्रम के संबंध में प्रतिभागियों से अनुभव और सुझाव मांगे हैं। एक खुशहाल और परिपूर्ण जीवन जीने के पीछे के वैज्ञानिक आधार को समझते हुए राज्य आनंद संस्थान द्वारा ऑनलाइन अलोहा कार्यक्रम संचालित किया गया है। राज्य आनंद संस्थान ने अलोहा कार्यक्रम में भाग ले चुके सभी छात्र/प्रतिभागियों से अपने अनुभव और सुझाव साझा करने के लिए आग्रह किया। प्राप्त सुझावों के आधार पर संस्थान इस तरह के कार्यक्रम संचालित करने की दिशा में कार्य कर सकेगा। सफलता की कहानी ---------------------------- कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वसहायता समूह की महिलाओं ने किये सार्थक प्रयास स्वसहायता समूह की महिलाओं ने किया मास्क, सेनेटाइजर और पीपीई किट का निर्माण रीवा 12 जून 2020. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिले की म.प्र. डे राज्य आजीविका मिशन समूह की महिलाओं द्वारा अपनी सामाजिक जिम्मेदारी का प्रदर्शन करते हुए सार्थक प्रयास किये गये है। समूह की महिलाओं ने बहुत ही कम समय में मास्क, सेनेटाइजर और पीपीई किट का निर्माण कर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी जा रही लड़ाई में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। यह महिलाएं अपने घर का काम निपटाने के बाद मास्क निर्माण के कार्य में जुट जाती थीं। जिले के सभी 9 विकासखण्डों में 93 स्वसहायता समूहों की 272 महिलाओं ने मास्क निर्माण की जिम्मेदारी उठाई। इनके द्वारा एक माह में दो लाख 64 हजार 401 मास्क का निर्माण किया गया जिसमें से दो लाख 40 हजार 392 मास्क का वितरण भी कर दिया गया है। इस कार्य से समूह की महिलाओं को लगभग चार लाख रूपये की आमदनी हुई। आजीविका मिशन की टीम द्वारा निरंतर मास्क निर्माण का कार्य जारी है। महिलाओं द्वारा कोरोना संकट के समय मास्क का निर्माण कर पर्याप्त आपूर्ति की गई। इनके द्वारा बनाये गये मास्क को जिला पंचायत, नगर निगम, जनपद पंचायत, ग्राम पंचायत, एनजीओ, मेडिकल शॉप, बैंकों एवं मनरेगा कार्य में लगे श्रमिकों को उपलब्ध कराया गया। इसके अतिरिक्त रीवा विकासखण्ड के ग्राम जोरी में चार स्वसहायता समूह की सदस्यों द्वारा नवाचार करते हुए फुल फेस कवर मास्क का निर्माण भी किया जा रहा है। जिले की स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा होम मेड सेनेटाइजर का निर्माण भी किया जा रहा है। जिले के तीन विकासखण्डों में पांच स्वसहायता समूह की नौ महिलाओं द्वारा 503 लीटर सेनेटाइजर का निर्माण कर विभिन्न संस्थाओं को उपलब्ध कराया गया है। विकासखण्ड रीवा में लक्ष्मी स्वसहायता समूह की सदस्य आशा सिंह ने नवाचार करते हुए पीपीई किट का निर्माण किया है। लैब टेÏस्टग के पश्चात मांग अनुसार पीपीई किट का निर्माण किया जायेगा। लॉकडाउन के दौरान आजीविका मिशन के अंतर्गत चयनित बैंक एवं वीसी सखियों द्वारा बैंक खाता धारकों का सहयोग किया गया। इनके द्वारा एक हजार 800 खातों से लगभग 26 लाख 71 हजार 600 रूपये ग्राम स्तर पर जनधन खातों से आहरण कराने में सहयोग किया गया है। इसके अतिरिक्त समूह की सदस्यों ने कृषि कार्य, लॉकडाउन के दौरान घर-घर में सब्जी का विक्रय तथा कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता पैदा करने का कार्य भी किया। इस प्रकार कोरोना वायरस महामारी में समूह की महिलाओं द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका निभायी गई।