ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
सामान्य की सुरक्षा एवं प्रवासी श्रमिकों को रोजगार की व्यवस्था सरकार की प्राथमिकता - सुश्री मीना सिंह
June 7, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

उमरिया - कोरोना संक्रमण से जन सामान्य की सुरक्षा तथा प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराना प्रदेश सरकार की पहली प्राथमिकता है। राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में मनरेगा योजना के तहत प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। उमरिया जिले में सीमित संसाधनों के बावजूद जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु अच्छा कार्य किया जा रहा हैए इसके लिए जिला प्रशासन ए चिकित्सक ए पैरामेडिकल स्टाफ ए पुलिस तथा मीडिया से जुड़े लोग बधाई के पात्र है। उक्त आशय के विचार प्रदेश शासन की आदिम जाति कल्याण मंत्री तथा उमरिया जिले की प्रभारी मंत्री सुश्री मीना सिंह कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

मंत्री सुश्री मीना सिंह ने कहा कि कोरोना संकट अभी खत्म नहीं हुआ है। इसलिए और अधिक सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। आपने जिलावासियों एवं व्यापारियों से अपील की कि वे कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु स्वयं अपने जिम्मेदारी का निर्वहन करें । उन्होने लोगों से मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलने ए सोशल डिस्टेसिंग का पालन करनेए बार बार साबुन एवं पानी से हाथ धोनेए सार्वजनिक कार्यक्रमों एवं भीड़ भाड से बचने की सलाह दी। विधायक बांधवगढ़ शिवनारायण सिंह ने कहा कि जिला चिकित्सालय में आइसोलेशन वार्ड की समस्त व्यवस्थाएं पृथक रखी जाए फीवर क्लीनिक के माध्यम से सामान्य रोगियों का उपचार सुनिश्चित कराया जाए। साप्ताहिक हाट बाजारों तथा बाजार क्षेत्रों में मास्क लगानें एवं सोशल डिस्टेसिंग के पालन कराने की समुचित व्यवस्था की जाए। होटलो के खुलने पर भोजन सामग्री के पार्सल या होम डिलेवरी की व्यवस्था की जाए तथा मंदिरो मे भी भीड भाड रोकने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं की जाए।

कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु की गई व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुए बताया कि चिकित्सकीय सामग्री उपकरण तथा दवाईयां उपलब्ध है। दो वेंटीलेटर के क्रय आदेश जारी किए गए है। जिले में 663 निगेटिव रिपोर्ट ए 10 पाजीटिव रिपोर्ट उनमें से दो लोगों को स्वस्थ्य होने के पश्चात होम क्वारेंटाईन हेतु मुक्त किया गया हैं तथा 9 जून को तीन और लोगों को मुक्त किया जाएगा। जिले में कुल 50474 लोगों की स्क्रीनिंग की गई जिसमें जिले मे रहने वाले 4546 व्यक्तियों की तथा जिले के बाहर से आये 46128 व्यक्तियो की स्क्रीनिंग की गई है। होम क्वारेंटाईन व्यक्तियो की संख्या 46049 है। संस्थागत क्वारेटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 731 है। जिले में चार क्वारेंटाईन सेंटर बनाये गये है। जिनकी क्षमता 356 बिस्तरों की है। जिले में कुल आइसोलेशन बिस्तरों की संख्या 41तथा जिला चिकित्सालय में आईसीयू मं दो बिस्तरों की व्यवस्था उपलब्ध है।