ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
सर्व मंगल प्रस्तावित यात्रा आज आठनेर नगर से रवाना होगी
October 15, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

शारदीय नवरात्र पर अंबा दरबार में भक्तों का ताता

बैतुल/आठनेर : विजय प्रजापतिः:- मध्यप्रदेश - महाराष्ट्र की सीमा पर ग्राम धारूड से 3 किलोमीटर कि दुरी पर स्थित मां अंबा का दरबार हैए जहां प्रतिदिन सैकड़ों की तादाद में श्रद्धालु दर्शन लाभ पाते हैं शारदीय नवरात्र एवं चैत्र मास की नवरात्रि पर भारी संख्या में श्रद्धालु यहां महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के श्रद्धालु सामूहिक रूप से आकर मां अंबा के दरबार में हाजिरी लगाते हैंवही चैत्र मास के नवरात्र में इस वर्ष कोरोना काल के चलते भक्तों की भीड़ जरूर प्रभावित हुई थी लेकिन इस बार शारदेय नवरात्रों पर कोरोना के लांकडाउन से मिली डिल के कारण इस बार हजारों की संख्या में भक्तों का ताता दरबार में लगने की संभावना है। गत वर्ष की भांति ही इस वर्ष भी भाजपा के जिला अध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला तथा उनका ग्रुप आठनेर अंबा मंदिर से अंबा माई धारूड तक पैदल ही यात्रा करने हेतु कृत संकल्पित हैयात्रा के 1 दिन पूर्व आठनेर नगर में यात्रा को लेकर भव्य शोभा यात्रा के साथ साथ चलने वालों का हुजूम देखने लायक रहेगा आठनेर नगर को बैनर पोस्टर से सजाया गया है यात्रा के दौरान आदित्य बबला शुक्ला एवं उनका पुरा ग्रुप व कार्यकर्ता सहित माता रानी के भक्तों का भी समुह का पहला पड़ाव हिंडली ग्राम में होगा भोर होते ही गुफा वाली मां जगत जननी मां अंबा देवी जिसे धारूड वाली अंबा मां के नाम से जानते हैं पैदल यात्रा वहां से रवाना होंगी और शाम होते होते पैदल यात्रा मां दरबार में पहुंचेंगी

धारूड वाली मां अंबा देवी सतपुड़ा की पर्वत श्रृंखलाओं में गुफा के भीतर लगभग 100 मीटर अंदर विराजमान है। वही 7 किलोमीटर की दूरी पर भगवान शिव का शिव धाम भी सालबर्डी के नाम से स्थित है जो गुफा के अंदर पहुंचने पर शिवलिंग के दुर्लभ दर्शन प्राप्त होते हैं। शिवरात्रि पर यहां भारी मेला लगता है जहां लाखों की तादाद में भक्तजन पहुंचकर दर्शन लाभ लेते है। सर्व मंगल यात्रा के अग्रणी आदित्य बबला शुक्ला जो प्रतिवर्ष मां अंबा के दरबार में सर्व मंगल यात्रा के तौर पर हाजिरी लगाते हैं इस बार भी वे इस यात्रा का मार्गदर्शन एवं नेतृत्व करेंगे ज्ञात हो कि अंम्बा दरबार आठनेर से लगभग 65 किलोमीटर दक्षिण में गुफा वाली अंबा के नाम से जानेए जाने वाली अति प्राचीन देवी दरबार स्थित है जहां पहुंचने के कई मार्ग है जैसे आठनेर से होते हुए हिरादेहीएमानीएधारूड होते हुए पहुंच मार्ग हैए दूसरा आठनेरए हिडलीए मोरुडाना होते हुए पहुंच मार्गए तीसरा आठनेर से गेहूंबारसाए कुंडाए रगडगांव कुमुद्रा पहुंच मार्ग हैएचौथा आठनेर से पट्टन एवरुड़ए मौर्शीएभिवकुडी आदि पहुंच मार्ग हैगुफा वाली अंबा देवी के पूर्व दर्शनार्थी छोटी अंबा माई के दर्शन करते हैं तत्पश्चात पहाड़ पर चढ़ते हुए सीधे गुफा वाली अंबा मां के दरबार में पहुंचते