ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
शिवराज सिंह चौहान की कार्यशैली से कोविड-19 पर सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों पर जनता का उठा भरोसा* : *दुर्गेश शर्मा*
July 30, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

  भोपाल, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता दुर्गेश शर्मा ने मध्य प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम पर मध्य प्रदेश की आम जनमानस के उठते भरोसे पर चेताया

शर्मा ने कहा कि विगत कुछ दिनों में जिस तरीके से कोविड-19 के खिलाफ मध्यप्रदेश में सरकार के द्वारा चलाए जा रहे अभियान पर सवाल उठ रहे हैं । और जिस तरीके से मुख्यमंत्री महोदय के अशासकीय अस्पताल में इलाज कराने पर उन्हीं के दल के नेताओं के द्वारा सवाल उठाने का मामला हो या अन्य किसी और के द्वारा सवाल उठाने का मामला हो इससे सरकार के द्वारा कोविड-19 चलाए जा रहे अभियान पर लोगों का भरोसा उठ रहा है । जिस तरह से सार्वजनिक तौर पर मुख्यमंत्री के कोविड-19 के पेशेन्ट होने और ना होने पर सवाल उठाए गए इस पर भी सरकार को मध्यप्रदेश के जनमानस को विश्वास में लेना चाहिए । क्योंकि सवाल उठने से अविश्वास पैदा हो गया है । साथ ही शिवराज सिंह चौहान जी की कार्यशैली अस्पताल से वीडियो बनाकर सार्वजनिक करना अति आवश्यक ना होने पर भी कैबिनेट की मीटिंग अस्पताल से इतिहास रचने के लिए वर्चुअल मीटिंग करना अन्य शासकीय कार्यों का अस्पताल से संचालन करना जो कि वे किसी को भी कार्यवाहक बनाकर संचालित कर सकते हैं , किया जाना मध्यप्रदेश में एक अलग ही प्रकार की चर्चाओं को जन्म दे रहा है । शर्मा ने अपने वक्तव्य में कहा कि सरकार के द्वारा बनाए हुए कोविड-19 अभियान नियमों का जिस प्रकार भारतीय जनता पार्टी के नेतागण और सरकार में बैठे हुए मंत्री गणों द्वारा माखौल उड़ाया जा रहा है नियमों को तोड़ा जा रहा है । मध्य प्रदेश सरकार के मंत्रियों और भाजपा नेताओं द्वारा मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनाव को देखते हुए लॉकडाउन प्रक्रिया को ना मान कर पब्लिक को इकट्ठा करना , सभाएं करना, जनसंपर्क करना आदि कार्य किए जा रहे हैं ।इन सभी कार्यों से सरकार की कोविड 19 संदर्भ में बनाई नियमावली को तोड़ने में जनमानस हिचक नहीं रहा है । ये अलग बात है कि भाजपा नेताओं पर कानूनी शिकंजा नहीं कसा जा रहा है और जनमानस को कोई रियायत उन पर कैस दर्ज हो रहे हैं। शर्मा ने अपने वक्तव्य में कहा कि जिस प्रकार मंत्रियों और भाजपा नेताओं द्वारा किए जा रहे कार्यों पर सोशल मीडिया एवं सार्वजनिक मंचो पर सवाल उठाए जा रहे हैं। उससे भी सरकार द्वारा कोविड-19 के खिलाफ चलाया जा रहा अभियान कमजोर हो रहा है । कोविड 19 सेंटर में पेशेन्ट का आत्महत्या कर लेना , अस्पताल से इलाज छोड़ कर भाग जाना । सरकारी प्रक्रिया पर से भरोसा नहीं भय पैदा कर रहा है। और भय से जंग नहीं जीती जाती। माननीय शिवराज सिंह चौहान जी आप और आपकी पूरी सरकारी प्रक्रिया से कोविड 19 अभियान पर सवालिया निशान पैदा कर रही है । सरकार सकारात्मक लड़ाई नहीं लड़ पा रही है । आपके प्रशासन की कमजोरियों के कारण आज पूरा मध्यप्रदेश कोविड 19 के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है । जो दुखद है प्रतिदिन जिस तरीके से कोविड के मरीज बढ़ते जा रहे हैं, वह सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं । जब सरकार के पास अस्पताल में उचित संख्या में पेशेन्ट के लिए बेड नहीं है , अस्पतालों में वेंटिलेटरों की उपलब्धता भी संशय में हैं और आपन अशासकीय अस्पताल में स्वयं को भर्ती कर जनता के मन में शासकीय अस्पतालों के प्रति जो अविश्वास पैदा कर दिया है , उससे जनता के मन में सरकार के प्रति भरोसा कम भय ज्यादा पनप रहा है। सरकार को जनमानस के मन से इस भय को दूर करने का प्रयास करना चाहिए जो आपकी कार्यशैली से होता प्रतीत नहीं दिख रहा। अब सवाल एक है कि मध्यप्रदेश की जनता किसके भरोसे अपने आप को सुरक्षित माने । आज शिवराज सिंह जी आपको सहानुभूति की की आड़ में अपनी राजनीतिक प्रष्ठभूमि तैयार करने के स्थान पर जनमानस में कोविड 19 से युद्ध में जीत का भरोसा पैदा करना चाहिए जनता में से कोविड-19 को खत्म कर कोविड-19 लड़ाई में जनता और सरकार के बीच आपसी सामंजस्य बनाना चाहिए और भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं और सरकार में काबिल आपके मंत्रीगणों कोविड 19 नियमावली को तोड़ने पर निष्पक्ष कार्रवाई कर समाज में एक उदाहरण प्रस्तुत कर सकते हैं । कोविड-19 के खिलाफ बनाई नियमावलीका पालन शक्ति से होना चाहिए। कोई भी मंत्री या नेता और कोई भी अधिकारी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करता मिले , मास्क ना लगाएं तो उस पर आम जनमानस पर लगाए जाने वाले केसों की ही तहत कानूनी कार्रवाई कर सरकार की कार्यशैली पर उठ रहे सवालों पर विराम लगाना चाहिए । शर्मा ने कहा यह हमारी सलाह दी है और चेतावनी भी किसी भी स्थिति में मध्यप्रदेश के जनमानस को कोविड-19 के चलते हम हताशा और निराशा में के दौर में नहीं जाने देंगे और कांग्रेस पार्टी सतत प्रयासरत है। कि जनमानस अपने बल पर क्योंकि सरकार कोविड-19 को लेकर सुप्त अवस्था में है । सशक्त रूप से जागरूकता फैलाने के लिए काम कर रही है । प्रदेशवासी कोविड-19 बनाए नियमों का पालन करें सोशल डिस्टेंसिंग मास्क भीड़ में ना जाना जैसे हम नियमों पर सख्ती से काम करें इस पर भी कांग्रेस पार्टी प्रयासरत है और प्रयास करती रहेगी। श्रीमान संपादक महोदय ससम्मान प्रकाशनार्थ दुर्गेश शर्मा प्रवक्ता मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी