ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ के खिलाफ जांच करने कलेक्टर ने गठित किया जांच दल
June 10, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

बैतुल - स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ के खिलाफ जांच करने कलेक्टर ने गठित किया जांच दल बैतूल मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बैतूल डॉ. गिरीश चौरसिया की लापरवाही एवं भ्रष्ट कार्यप्रणाली को लेकर बीजेपी सांसद- विधायक सहित भाजपा नेताओं द्वारा की गई शिकायत को कलेक्टर राकेश सिंह ने गंभीरता से लिया है। कलेक्टर ने सीएमएचओ बैतूल के विरूद्ध मिली गंभीर शिकायतों की जांच के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत बैतूल एमएल त्यागी, डिप्टी कलेक्टर श्रीमति अदिति यादव एवं जिला कोषालय अधिकारी नीतेश उईके का जांच दल गठित कर एक सप्ताह में प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है। जानकारों का मानना है कि जांच दल में राज्य ग्रामीण विकास सेवा, राज्य प्रशासनिक सेवा एवं राज्य वित्त सेवा के अधिकारियों के शामिल होने से सीएमएचओ की कारगुजारियों एवं कथित भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा हो सकता है। शिकायत में सीएमएचओ के खिलाफ लगाये थे गंभीर आरोप कोरोना महामारी संक्रमण के दौर में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बैतूल डॉ. गिरीश चौरसिया की लापरवाह एवं भ्रष्ट कार्यप्रणाली को लेकर सांसद डीडी उईके, आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे, पूर्व विधायक एवं भाजपा प्रदेश कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल एवं भाजपा जिला अध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला ने 6 जून को कलेक्टर राकेश सिंह से मुलाकात कर सीएमएचओ बैतूल की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जाहिर कर उनकी कार्यप्रणाली की विस्तृत शिकायत कर जांच करवाने की मांग की थी। कलेक्टर से मुलाकात के दौरान आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे ने सीएमएचओ पर अनेक गंभीर आरोप लगाते हुए कलेक्टर को अवगत कराया था कि सिविल सर्जन की सहमति लिए बगैर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में पदस्थ स्टाफ नर्सो को सीएमएचओ द्वारा जिला चिकित्सालय बैतूल में अटैच किया गया है। जिससे रिश्वत लेकर पदस्थापना करने की आशंका जन्म लेती है। आमला विधायक डॉ. पंडाग्रे ने जिला अस्पताल में प्रस्तावित कोविड केयर सेंटर एवं डैडीकेटेड आईसीयू का कार्य पूर्ण नहीं होने कोविड-19 की रोकथाम में प्रचार-प्रसार हेतु राशि का सीएमएचओ द्वारा अनियमित व्यय करने होर्डिंग की जगह बैनर लगाने सहित सीएमएचओ द्वारा की गई अन्य अनियमितताओं की शिकायत कलेक्टर से कर कार्यवाही की मांग की थी। आवंटन, अटेचमेंट, स्थापना में हुई अनियमितता की होगी जांच भाजपा के सांसद- विधायक एवं संगठन पदाधिकारियों द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बैतूल डॉ. गिरीश चौरसिया के खिलाफ की गई शिकायतों को गंभीरता से कलेक्टर ने शिकायत की जांच के लिए 6 जून को ही सीईओ जिला पंचायत बैतूल एमएल त्यागी, डिप्टी कलेक्टर अदिति यादव एवं जिला कोषालय अधिकारी नीतेश उईके का जांच दल गठित कर एक सप्ताह में प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिये थे। कलेक्टर ने जांच दल के अधिकारियों को खंड चिकित्सा अधिकारियों को दिये जाने वाले विभिन्न आवंटन को रोके रखना, विभिन्न प्रकार के स्थापना प्रकरणों में क्षेत्राधिकार के बाहर जाकर अटेचमेंट एवं अन्य स्थापना संबंधी विषय सहित स्थापना शाखा में पदस्थ कर्मचारी द्वारा विभिन्न स्थापना संबंधी प्रकरणों में अनियमितता करने के बिंदुओं पर प्रारंभिक जांचकर एक सप्ताह में जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है।