ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
थाना चोपना पुलिस को मिली बड़ी सफलता - आशीष पेंढारकर
May 16, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

चोपना पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलाशा थाना चोपना पुलिस को मिली बड़ी सफलता याना चोपना के अपराध क .67720 धारा 302,201 भादवि के आरोपियों को गिरफ्तारी किया । श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल श्रीमान डी.एस.भदौरिया सर एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल श्रीमति श्रध्दा जोशी मैडम के मार्गनिर्देशन में गठित टीम श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी ( पुलिस ) महोदय सारणी श्रीमान अभयराम चौधरी सर के निर्देशन मे थाना प्रभारी चौपन्ना गोविन्दसिंह राजपूत एवं टीम दारा थाना चोपना के अपराध क्र .67 / 20 धारा 302,201 भादवि के अज्ञात आरोपियों की लगातार तलाश पलारसी के भरसक प्रयास कर 21 दिनो बाद आज दिनांक 15/5/2020 को खोज निकाला एवं गिरफ्तार किया गया । आरोपी संदीप धुर्वे पिता गोवलू धुर्वे उस 28 साल न आरोपी जगना इवने पिता चुन्नीलाल इवने उम 35 साल दोनो नि.ग्राम केरिया उमरी याना सारणी से पूछताछ पर बताया कि हमारे पास करीबन 5-6 एकड़ जमीन है उसी जमीन पर हम लोग खेती किसानी करते हैं हम लोग बरसात में भुट्टाबाड़ी में गॉजे का बीज डाल देते है और सूखने पर उसे तोड़कर रखकर बेचते रहते हैं रामचरण उर्फ राजाराम जो सारणी का रहने वाला है वह मेरे घर से हमेशा गाँजा बेचने के लिये खरीदकर ले जाता है रामचरण से मेरी बहुत पहले से जान पहचान है रामचरण शिवरात्रि के समय मेरे घर आया था और मेरे 3000 रुपये का गॉजा लेकर गया था उसमे से मुझे 1000 रुपये दिया था और 2000 रुपये बाद में देने को कहा था फिर वह बाद में भी मेरे गाँव में आया था मैने उसे पैसो की बोला तो उसने कहा की बाद मे दे दूंगा । फिर वह दिनांक 23/03/20 को सुबह करीबन 7 बजे मेरे गाँव केरिया उमरी में आया था मे मेरे गाँव से छतरपुर तरफ जा रहा था तो वह मुझे मेरे गाँव के रोड पर रास्ते में ही मिल गया था मैने उसे बोला की चल गाँजा पीते है फिर मैने उसे जगना के घर पर गाँजा पीने के लिये ले गया वहा पर हम तीनो ने बैठकर गाँजा पीया । फिर मैने रामचरण को बोला की चल मनकाढाना तरफ गाँजा लेने चलते है वहा सस्ता गाँजा मिलता है । फिर मैने जगना को बोला की कुछ चाकू बगैरा रख ले तो उसने अपने पास एक चाकू अपने पेन्ट के जेब में रख लिया था फिर हम तीनो रामचरण की मोटरसाईकल टीवीएस विक्टर से चोपना के पास जम्मूदीप देवस्थान पर चले गये वहा पर उपर पहाड़ी पर जाकर भी हम तीनो ने गाँजा पिया फिर मैने रामचरण को बोला की मेरे 2000 रुपये कब देगा तू इसी बात को लेकर हमलोगों के बीच मे गाली गलोच हो गई तो जगना ने रामचरण के सिर मे वहा पास मे पडे बॉस के इन्डे को उठाकर उसके सिर मे 3-4 बार ताकत से मारा फिर मैंने उसे पास में पड़े पत्थर से उसके सिर एंव पीठ में मारा वह नीचे तरफ गढ्ढे में गिर गया बेहोश हो गया । फिर मैने जगना से चाकू लेकर रामचरण की गर्दन काट दिया और वह मर गया । फिर हम दोनों ने उसके सिर को पत्थर से कुचल दिया और उसके शरीर पर झाडिया डाल दी । उसके बाद हम दोनो रामचरण की मोटरसाईकल लेकर वापस आते समय रास्ते के जंगल में नाले के पास मैने चाकू छुपा दिया था । और जगना ने जिस इण्डे से मारा था वह डण्डा जगना ने छिपा दिया और रामचरण की मो.सा.कटंगी के जंगल में खड़ी कर दिया । उसके बाद हम घर चले गये । 
फिरदूसरे दिन मैं अकेला आया और रामचरण की मोटरसाईकल को मेरे जीजा सुखलाल निवासी ग्राम सीलपटी थाना शाहपुर के घर पर ले जाकर घर के अन्दर लुकाकर खड़ी कर दिया । आरोपी संदीप धुर्वे के मेमोरेंडम पर संदीप से घटना में प्रयुक्त कपडे , चाकू , व मृतक की मो.सा , जप्ती की गई । व आरोपी जगना के मेमोरेंडम पर जगना से कपडे डण्डा जप्त कर दोनों को विधिवत गिरफ्तार किया गया । उक्त अंधे कल्ल जघन्य अपराध में अज्ञात आरोपियों को पकड़ने के लिये वरिष्ठ अधिकारियो व्दारा विशेष अनुसंधान टीम गठित की गई । जिसमे टीम प्रभारी विवेचक उप निरीक्षक गोविन्द सिंह राजपूत थाना प्रभारी चोपना , प्र.आर .86 इश्त्याक अली , आर .423 सौरभ राजौरिया , आर . 72 रोहन उइके , आर .475 सतीश वाडिवा , आर . महेश इवने , आर .29 सतीश चौरे , आर .670 मनीष खराडी आर . 193 सेवलाल कलमे , आर .588 भीम चंचल आर .602 अभिषेक ( चौकी पाथाखेडा ) आर .200 भूपेन्द्र पटेल ( थाना सारणी ) , सै . 296 विनोर ( चौकी पाथाखेडा ) । टीम ने संगठित आपसी तालमेल अथक प्रयास से अंधे कत्ल के अज्ञात आरोपियों को पकड़ने में सफलता प्राप्त की ।