ALL देश / विदेश सम्पादकीय लेख /आलेख अध्यात्म मध्यप्रदेश राजधानी - भोपाल खेल / विज्ञानं एवं टेक्नोलॉजी मनोरंजन / व्यापार रोजगार के पल शाषकीया विज्ञापन रोजगार के पल क्लासिफाइड विज्ञापन
ठेकेदारों द्वारा मशीनों से नदियों में की जा रही रेत उत्खनन पर रोक लगे*
June 21, 2020 • Mr. Dinesh Sahu • मध्यप्रदेश

 *आशुतोष बिसेन ने लिखा बालाघाट कलेक्टर को पत्र* भोपाल ,-  मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष बिसेन ने बालाघाट कलेक्टर को एक पत्र लिखकर नदियों में मशीनों द्वारा हो रहे रेत के उत्खनन पर आपत्ती व्यक्त करते हुए रोक लगाने और ठेकेदारों पर कार्रवाई किए जाने का आग्रह किया है। श्री बिसेन ने बताया है कि जीवनदायिनी नदियों से व्यापारिक रेत ठेकेदार मशीनें लगाकर पर्यावरण सुरक्षा पर आघात पहुंचा रहे हैं। कटंगी, चिरोड़ी, खैरलांजी में बोन कट्टा रेत खदान, बनी रेत खदान हर होली रेत खदान, बावन नदी के अतिरिक्त गच्छीपुरा, कल गांव अमरवाड़ा में व्यापारियों द्वारा पर्यावरण को नुकसान पहुंचा कर रेत खनन का उल्लंघन किया जा रहा है । वहीं बावन घड़ी नदी सहित स्थानीय नदियों में मशीनों द्वारा उत्खनन होने से नदियां अपना अस्तित्व खो चुकी हैं जल का स्तर काफी निम्न स्तर पर पहुंच चुका है। मशीनों द्वारा उत्खनन पर रोक लगाई गई थी किंतु वहां पुनः उत्खनन शुरू कर दिया गया है , वहां के निवासियों को पानी के लिए गंभीर संकट पैदा हो सकता है, रेत की खुदाई गहराई तक किए जाने के कारण नदी का बहाव खत्म हो जाएगा तथा कई अप्राकृतिक घटनाएं घटित होने के साथ ही साथ नदियों के किनारे लगे वृक्ष धराशाई हो जाएंगे, कृषि भूमि कटाव से संतुलन बिगड़ जाएगा, जिससे कृषकों को भूमि से वंचित होना पड़ सकता है, वही इसके पहले भी कई किसानों को भूमि से वंचित होना पड़ा है, यहां तक की प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत निर्मित नालो पर बनी पुलिया मशीनों द्वारा खनन से पूर्व में ही धराशाई हो चुकी है, जिसकी जानकारी जिला प्रशासन को भी पूर्व में दी जा चुकी है। श्री बिसेन ने कहा कि ग्रीन ट्रिब्यूनल के दिशानिर्देशों का रेत ठेकेदार द्वारा पालन ना किया जाना उसका खुल्लम खुल्ला उल्लंघन है । मशीनों एवं ट्रकों की आवाजाही से वायु प्रदूषित हो रही है जिससे नदियों के समीप रहने वाले लोगों को श्वसन संबंधी बीमारियों का शिकार होना पड़ा रहा है। रेत खदानों के आवंटन के पश्चात ठेकेदार द्वारा व्यापार प्रारंभ कर रेत उत्खनन जारी किया गया है स्थानीय निकाय जैसे ग्राम पंचायतों के शासकीय निर्णय कार्य, प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत निर्माणाधीन मकान, शासकीय कार्य मैं रॉयल्टी प्रति घन मीटर 700 एवं ट्राली की कीमत 2100 ली जा रही है जिससे हितग्राही मूलक कार्य बंद हो चुके हैं। श्री बिसेन ने बालाघाट कलेक्टर से आग्रह किया है कि पर्यावरण क्षति को दृष्टिगत रखते हुए प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा हेतु मशीनों से हो रही रेत उत्खनन पर अविलंब रोक लगाई जाए। यदि सात दिवस के भीतर मेरे इस आग्रह पर का कोई निराकरण नहीं हुआ तो कामगार कांग्रेस उच्च न्यायालय की शरण लेने के लिए बाध्य होगी, जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी श्रीमान संपादक महोदय ससम्मान प्रकाशनार्थ आशुतोष विसेन अध्यक्ष असंगठित कामगार कांग्रेस मध्यप्रदेश